खट्टे फलों की सूची - list of citrus fruits in hindi

शरीर को स्वस्थ रखने एवं इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए खट्टे फलों का अपना महत्व है, अतः जानिए खट्टे फलों के नाम (citrus fruits in Hindi) एवं सूची.
खट्टे फलों की सूची

प्रकृति ने धरती पर तरह के फल पैदा किए हैं, कुछ मीठे और कुछ खट्टे-मीठे. वैसे तो सभी फलों के अपने ही गुण होते हैं लेकिन खट्टे फलों का जवाब नहीं.

विज्ञान की भाषा में खट्टे फलों के अंदर सबसे ज्यादा मात्रा में विटामिन सी मौजूद होता है, जो एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट के रूप में शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है.

इसके अलावा, खट्टे फल फाइबर, पोटेशियम, फोलेट, कैल्शियम, थायमिन, विटामिन, मैग्नीशियम और ओमेगा 3 फैटी एसिड जैसे कई आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जो शरीर के आंतरिक कार्यों के लिए ईंधन के रूप में कार्य करते हैं.

इसलिए यह कहा जा सकता है कि इम्युनिटी बढ़ाने और शरीर को स्वस्थ रखने के लिए खट्टे फलों का सेवन एक बेहतरीन विकल्प है.

इसी को ध्यान में रखते हुए खट्टे फलों की सूची (list of citrus fruits) और उनके महत्व के बारे में विस्तार से जानने के लिए यह लेख साझा किया गया है.

खट्टे फलों के नाम - citrus fruits names in hindi

खट्टे फलों में मौजूद पोषक तत्वों को ध्यान में रखते हुए, इन फलों का उपयोग कॉस्मेटिक उत्पादों और कई प्रकार की दवाओं को बनाने में भी किया जाता है.

तो आइए आगे पढ़ते हैं.

1. आंवला (Gooseberry)

खट्टे फलों की सूची

खट्टे फलों की सूची में आंवला सबसे सर्वोत्तम खट्टा फल है क्योंकि यह अपनी खटास और विशिष्ट गुण के लिए जाना जाता है.

आंवला विटामिन सी से भरपूर होता है, जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और शरीर को स्वास्थ्य प्रदान करता है.

आयुर्वेद में आंवला को अमृत फल माना गया है, अर्थात इसके नियमित सेवन से स्वस्थ और लंबी आयु के साथ-साथ कब्ज, बवासीर, सिरदर्द, रक्तस्राव और कई बीमारियों में लाभ होता है.

आयुर्वेद के अनुसार आंवला त्रिदोषनाशक होता है जिसके सेवन से वात, पित्त और कफ का नाश होता है. आंवला फल की सबसे अच्छी विशेषता यह है कि इसका अचार, मुरब्बा, चटनी, आंवला कैंडी और पाउडर आदि किसी भी रूप में सेवन किया जा सकता है.

क्या आप जानते हैं कि रोजाना सिर्फ एक आंवला खाने से विटामिन सी की आपूर्ति पूरी हो सकती है.

मात्रा:

लगभग 100 ग्राम आंवला में 27.7 मिलीग्राम विटामिन सी होता है.

2. संतरा (Orange)

संतरे को खट्टे फलों की सूची (citrus fruit list) में शामिल किया जा सकता है. यह फल खट्टा और मीठा दोनों प्रकार का होता है. संतरे को एनर्जी ड्रिंक भी कहा जा सकता है, क्योंकि एक गिलास जूस पीने से शरीर में एनर्जी और ताजगी आती है, इसलिए इसे पावर बूस्टर भी माना गया है.

खट्टे फल लंबे समय से अपने पौष्टिक और एंटीऑक्सीडेंट गुणों के लिए जाने जाते है, विशेष रुप से संतरा आवश्यक विटामिन, एंटीऑक्सीडेंट और खनिजों से भरपूर होता है जो त्वचा और आंतरिक अंगों को पोषण दे सकते हैं.

अन्य खट्टे फलों की तरह संतरा भी विटामिन सी का उत्कृष्ट स्रोत है, जो एक शक्तिशाली प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में मानव शरीर को बाहरी संक्रामक रोगों के खिलाफ प्रतिरक्षा प्रणाली को विकसित करने में मदद करता है.

संतरे में विटामिन ए का भी अच्छा स्तर होता है, जो स्वस्थ दृष्टि के लिए एक आवश्यक तत्व है.

मात्रा:

लगभग 100 ग्राम संतरे में 48.5 मिलीग्राम विटामिन सी होता है.

3. नींबू (Lemon)

नींबू का प्रयोग आमतौर पर सभी मौसमों में किया जाता है, लेकिन ज्यादातर यह बरसात के मौसम में बहुत उपयोगी होता है. नींबू बरसात के मौसम में औषधि का काम करता है.

यह अत्यधिक खट्टा होता है जिसमें रस की मात्रा अधिक होती है. निम्बू में साइट्रिक एसिड और कार्बोनिक अमल होता है जो प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट है.

नींबू के प्रयोग से त्वचा रोग, कब्ज, एसिडिटी, पेट दर्द, पाचन क्रिया और मलेरिया जैसे रोगों में लाभ मिलता है.

अगर नींबू में पोषक तत्वों की बात करें तो इसमें कैल्शियम, आयरन, विटामिन सी, पोटैशियम प्रचुर मात्रा में होता है, जो सभी बीमारियों से बचाव का काम करते है.

मात्रा:

लगभग 100 ग्राम नींबू में 29.1 मिलीग्राम विटामिन सी होता है.

4. अंगूर (grapes)

खट्टे-मीठे अंगूर सभी को पसंद होते हैं. हरे, लाल और काले तीनों प्रकार के अंगूर स्वास्थ्यवर्धक होते हैं, अंगूर में शर्करा की मात्रा अधिक होने के कारण यह शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है. 

अन्य खट्टे फलों की तरह इसमें भी विटामिन सी की अधिकता होती है, इसके अलावा पोटेशियम, कैल्शियम, फास्फोरस और आयरन तत्व भी प्रचुर मात्रा में होते है.

अंगूर का सेवन आंतों के लिए फायदेमंद होने के साथ-साथ लीवर को भी ताकत देता है, जिससे इसकी कार्य करने की क्षमता बढ़ती है.

मात्रा:

लगभग 100 ग्राम अंगूर में 10.8 मिलीग्राम विटामिन सी होता है.

5. चकोतरा (Grapefruit)

अगर आप जानना चाहते हैं कि खट्टे फल कौन से हैं तो इस लिस्ट में चकोतरा फल को भी शामिल किया जा सकता है. यह फल नींबू और संतरे की प्रजाति का है.

नींबू की तरह इसमें भी उच्च मात्रा में साइट्रिक एसिड होता है, जिसे खट्टे स्वाद के लिए जाना जाता है. इस फल का स्वाद खट्टा-मीठा होता है, स्वाद के अलावा इसमें विटामिन ए स्वस्थ दृष्टि एवं विटामिन सी स्वस्थ त्वचा और इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करते हैं.

इस फल के सेवन से थकान, बुखार, मलेरिया, शुगर, पाचन तंत्र की समस्याएं भी कम हो सकती हैं.

मात्रा:

लगभग 100 ग्राम चकोतरा फल में 31.2 मिलीग्राम विटामिन सी होता है.

6. लाल नारंगी (blood orange)

खट्टे फलों की सूची

लाल नारंगी भी एक किस्म का खट्टा मीठा और गहरे लाल रंग का संतरा होता है. बाकी खट्टे फलों की तरह इसमें भी विटामिन सी का उत्कृष्ट स्रोत होने के अलावा फाइबर, पोटेशियम जैसे खनिज तत्व होते हैं.

ऐसा माना जाता है कि लाल संतरा खाने से इम्युनिटी बढ़ाने के साथ-साथ कैंसर व मधुमेह गंभीर बीमारियों के खतरे को कम करने में मदद मिलती है.

इस फल को कच्चा, मुरब्बा बनाकर और जूस बनाकर पिया जा सकता है.

मात्रा:

लगभग 100 ग्राम रक्त संतरे में 52.3 मिलीग्राम विटामिन सी होता है.

7. अनानास (Pineapple)

अनानास खट्टा होता है लेकिन जब यह पूरी तरह से पक जाता है तो खाने में खट्टा और मीठा हो जाता है. अनानास फल के स्वाद से तो हम सभी वाकिफ हैं, लेकिन यह अपने आप में कई स्वास्थ्य लाभ समेटे हुए है.

आमतौर पर इसके जूस का सेवन ज्यादा किया जाता है, हालांकि इसे काटकर खाना भी दिलचस्प है. अगर इसके पोषक तत्वों की बात करें तो इसमें विटामिन सी, विटामिन ए, पोटेशियम, डाइटरी फाइबर और कैल्शियम तत्व अच्छी मात्रा में होते हैं.

अनानास का सेवन कई बीमारियों में फायदेमंद होता है, जिनमें पेट के रोग, पीलिया, एसिडिटी, टॉन्सिल, मूत्र रोग आदि प्रमुख हैं.

मात्रा:

लगभग 100 ग्राम अनानास में 47.8 मिलीग्राम विटामिन सी होता है.

8. चिपटी नारंगी (tangerine)

खट्टे फलों की सूची

कीनू फल को चिपटी नारंगी भी कहा जाता है, जो कि मैंडरिन संतरे की एक किस्म है, इसका छिलका फल की तरह बहुत स्वादिष्ट होता है, जिसका उपयोग कई तरह के व्यंजनों में भी किया जाता है.

पंजाब में इस फल को फलों का राजा कहा जाता है. संतरे की तुलना में यह अत्यधिक रसीला होता है. अन्य खट्टे फलों की तरह यह फल भी कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है.

इसके अलावा इसमें प्राकृतिक घुलनशील और अघुलनशील फाइबर तत्व होते हैं जो भोजन को पचाने और आसानी से मल त्यागने में मदद करते हैं.

मात्रा:

लगभग 100 ग्राम कीनू में 26.7 मिलीग्राम विटामिन सी होता है.

9. मौसंबी (Mausambi)

गर्मी के मौसम में मौसंबी एक बेहतरीन खट्टा फल है, जो नींबू प्रजाति का होता है लेकिन यह आकार में नीबू से बड़ा और स्वाद में खट्टा-मीठा होता है, इसलिए इसे मीठा नींबू भी कहा जाता है.

बहुत से लोग इस फल को काट कर खाना पसंद करते हैं और कई लोग इसका जूस बड़े चाव से पीते हैं. शरीर को स्वस्थ रखने के लिए मौसंबी पौष्टिकता से भरपूर होती है.

विज्ञान की भाषा में मौसंबी में विटामिन ए, सी, पोटैशियम, फोलेट, कार्बोहाइड्रेट, फास्फोरस, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटी-अल्सर जैसे गुण होते हैं.

मात्रा:

लगभग 100 ग्राम मौसंबी में 29.1 मिलीग्राम विटामिन सी होता है.

10. बुद्ध का हाथ फल (Buddha’s hand)

खट्टे फलों की सूची

यह फल हाथों और उंगलियों की तरह दिखने वाले अनोखे खट्टे फलों में से एक है. यह फल बुद्ध जी के हाथों की तरह लगता है इसलिए इसका नाम बुद्ध के हाथ के नाम पर रखा गया है.

इस फल में बीज नहीं होते हैं और यह खाने में बहुत ही रसीला होता है. इस फल की खासियत यह है कि इसके नियमित सेवन से पेट दर्द, दस्त, पाचन, रक्त संचार में कमी, मेटाबॉलिज्म के स्तर को तेज करने एवं मासिक धर्म के दौरान महिलाओं के लिए किसी वरदान से कम नहीं.

पूछे जाने वाले प्रश्न - questions to ask

Q. खट्टे फलों के नाम बताइए?

A. खट्टे फलों के अंतर्गत आप संतरा, कीनू, अनानास, लाल नारंगी, चकोतरा, अंगूर, नींबू और आंवला फल को शामिल कर सकते हैं.

Q. खट्टे फलों में सबसे अधिक विटामिन कौन सा होता है?

A. खट्टे फलों में सबसे अधिक विटामिन सी पाया जाता है.

Q. खट्टे फल खाने के क्या फायदे है?

A. खट्टे फलों में सबसे अधिक विटामिन सी की मात्रा पाई जाती है जो इम्यूनिटी को बूस्ट करने व त्वचा की देखभाल के लिए हितकारी होते हैं.

और भी जाने (know more)...

Post a Comment