पालक जूस पीने के फायदे और नुकसान - 13 Benefits and harms of spinach juice in hindi

पालक जूस किसी रामबाण औषधि से कम नहीं. जानिए पालक जूस पीने के फायदे और नुकसान, पालक जूस कब पीना चाहिए, त्वचा, आंखों व बालों के लिए पालक जूस के फायदे.
पालक जूस पीने के फायदे और नुकसान

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए आहार में हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन बेहद फायदेमंद होता है और इन्हीं पौष्टिक हरी सब्जियों में पालक सर्वगुण संपन्न सब्जी है.

पालक का उपयोग हम आहार में कई तरह से करते हैं जैसे कि पालक का साग, पालक पनीर, पालक पूड़ी, आलू पालक की सब्जी बनाकर इत्यादि.

वही बहुत से लोग शरीर को स्वस्थ रखने, इम्यूनिटी को मजबूत करने और कई गंभीर रोगों को दूर करने के लिए पालक का जूस पीना भी पसंद करते हैं.

इसलिए इस लेख के माध्यम से आप पालक जूस पीने के फायदे और नुकसान, पालक का जूस कैसे बनाएं, पालक जूस कब पीना चाहिए और पालक जूस के पोषक तत्वों के बारे में जानेंगे.

तो आइए जानते हैं विस्तार से.

पालक क्या है? | what is spinach in hindi

पालक अविश्वसनीय हरी पत्तेदार सब्जियों में से एक है जो कई पौष्टिक तत्वों से भरपूर होती है. इसकी कोमल गहरे रंग की पत्तियां दुनियाभर के लोगों को देखने और खाने में अपनी ओर लुभाती हैं. 

पालक के पौधे की ऊंचाई लगभग 1 फुट तक होती है जो साल भर उगाई जाती है.

खासकर यह सर्दियों के मौसम में बेहद फायदेमंद होती है, परंतु गर्मियों में भी इसके जूस का सेवन लाभकारी होता है क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है जो गर्मियों के दिनों में शरीर को हाइड्रेट रखने में मदद करती हैं.

इसमें एनर्जी, डाइटरी फाइबर, प्रोटीन, फोलेट, विटामिन (ए, सी, के, बी-2, बी-6), सोडियम, पोटेशियम, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, एंटीऑक्सीडेंट और बीटा कैरोटीन तत्वों का खजाना मौजूद होता है जो शरीर को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक माने जाते हैं.

आइए आगे पढ़ते हैं पालक जूस पीने से क्या होता है?

पालक का जूस पीने के फायदे | Benefits of Drinking Spinach Juice in hindi

पालक का पोषण मूल्य प्रशंसा से कम है, क्योंकि यह पौष्टिक तत्वों का भंडार है. पालक जितनी खाने में फायदेमंद है उतना ही इसका जूस फायदेमंद होता है.

तो आइए विस्तार से जानते हैं पालक जूस के फायदे.

1. बढ़ाएं इम्यूनिटी (boost immunity)

किसी भी बाहरी वायरस या बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता पर निर्भर करता है, क्योंकि आपकी इम्यूनिटी जितनी मजबूत होगी आप उतना ही अपने आप को स्वस्थ महसूस करेंगे.

शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए विटामिन सी और विटामिन ए तत्वों की आवश्यकता होती है जो पालक के जूस में भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं.

विटामिन सी एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट के रूप में शरीर को संक्रामक रोगो के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करता है और शरीर से हानिकारक ऑक्सीजन मुक्त कणों को भी खत्म करने में मदद करता है.

मात्रा:

प्रति 100 ग्राम पालक में 9377 आईयू विटामिन ए जो दैनिक स्तर का 312 % प्रदान करता है और 28.1 मिलीग्राम विटामिन सी होता है जो दैनिक स्तर का 47% प्रदान करता है.

2. एनीमिया की रोकथाम (prevention of anemia)

शरीर में खून की कमी को पूरा करने के लिए पालक का जूस बेहद उपयोगी साबित हो सकता है.

किसी भी हरे पत्तेदार सब्जियों की तुलना में पालक में सबसे अधिक मात्रा में आयरन मौजूद होता है जो शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन के लिए आवश्यक माने जाते हैं.

जो लोग एनीमिया जैसी बीमारी से गुजर रहे होते हैं डॉक्टर भी उन्हें आहार में पालक या पालक के जूस को शामिल करने की सलाह देते हैं.

मात्रा:

प्रति 100 ग्राम पालक में 2.71 मिलीग्राम आयरन होता है जो दैनिक स्तर का 34% प्रदान करता है.

3. त्वचा के लिए पालक जूस के फायदे (Benefits of Spinach Juice for Skin)

पालक का जूस पीने के फायदे एक नहीं अनेक है जिसमे निखरती हुई त्वचा और त्वचा संबंधी बीमारियां की रोकथाम के फायदे देखे गए हैं.

ताजी पालक की पत्तियों का जूस एंटीऑक्सीडेंट विटामिन जैसे विटामिन ए, सी, पॉलिफिनॉलिक, ल्यूटिन और बीटा कैरोटीन का समृद्ध स्रोत हैं जो उम्र बढ़ने, त्वचा को हाइड्रेट रखने और फ्री रेडिकल्स की रोकथाम में उपयोगी होते हैं.

त्वचा में निखार लाने के लिए प्रतिदिन एक गिलास पालक के जूस का सेवन अवश्य करना चाहिए जो आपके चेहरे की चमक और कोमलता को बरकरार रखता है.

4. गर्भावस्था में पालक जूस पीने के फायदे (benefits of spinach juice in pregnancy)

गर्भावस्था के दौरान खासकर आहार का विशेष ध्यान रखना पड़ता है. प्रेगनेंसी में क्या खाएं क्या ना खाएं यह समस्या हर समय बनी रहती है.

ऐसे में डॉक्टर पौष्टिक आहार वाले फल और सब्जियों को खाने की सलाह देते हैं जिसमें आप पालक के जूस को भी शामिल कर सकते हैं.

गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य एवं भ्रूण के विकास और मां के दूध के उत्पादन की क्षमता को बढ़ाने के लिए फोलेट (फोलिक एसिड) तत्व की आवश्यकता होती है जो पालक में प्रचुर मात्रा में होता है.

पालक के जूस का सेवन करने से पहले इसकी मात्रा के बारे में डॉक्टर से सलाह अवश्य लें.

मात्रा:

प्रति 100 ग्राम पालक के जूस में 194 माइक्रोग्राम फोलेट होता है जो दैनिक स्तर का 48.5% प्रदान करता है.

5. आंखों के लिए पालक का जूस (spinach juice for eyes)

जो लोग आंखों की समस्या जैसे कि धुंधलापन, मोतियाबिंद, आंखों के संक्रमण के रोगो से गुजर रहे होते हैं उनके लिए भी पालक का जूस किसी रामबाण औषधि से कम नहीं.

दरअसल पालक में ल्यूटिन, जियाजैंथिन और विटामिन ए भरपूर मात्रा में होते हैं जो आंखों की समस्याओं को रोकने में मददगार होते हैं.

प्रतिदिन एक बड़ा कप पालक का जूस पीने से आप आंखों को स्वस्थ रखने एवं बढ़ती हुई उम्र के साथ आंखों की रोशनी कम होने की समस्या से बचाव कर सकते हैं.

ठंड के मौसम में आप पालक, गाजर, चुकंदर, आंवला का मिश्रित जूस पी सकते हैं.

मात्रा:

100 ग्राम पालक में 9377 आईयू विटामिन ए होता है जो दैनिक स्तर का 312 % प्रदान करता है.

6. एंटीऑक्सीडेंट की प्राप्ति के लिए (To get antioxidants)

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हर तरह की पोषक तत्व की आवश्यकता होती है उन्हीं में से एक पोषक तत्व एंटीऑक्सीडेंट भी है.

शरीर को डिटॉक्सिफाई करने, रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने एवं फ्री रेडिकल से होने वाले नुकसान से बचाने के लिए एंटीऑक्सीडेंट तत्व आवश्यक माना जाता है.

हमें अपनी डाइट में वह सभी एंटीऑक्सीडेंट युक्त फल और सब्जियों का सेवन करना चाहिए जिनमें ल्यूटिन और विटामिन सी जैसे तत्व मौजूद हो क्योंकि यह एक प्रकार के शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट होते हैं.

पालक जूस पीने के फायदे और नुकसान

7. हड्डियों की मजबूती के लिए (for bone strength)

अध्ययनों से यह ज्ञात हुआ है कि हड्डियों के विकास एवं मजबूती के लिए पालक जूस के फायदे देखे गए हैं.

हड्डियों से संबंधित बीमारी जैसे कि ओस्टियोपोरोसिस, जोड़ों का दर्द और हड्डियों के कमजोर होने के खतरे को कम करने के लिए पालक जूस का सेवन अवश्य करे.

दरअसल पालक का जूस विटामिन के का बेहतरीन स्रोत है जो हड्डियों में ओस्टियोब्लास्टिक गतिविधि को बढ़ावा देने एवं हड्डियों की मजबूती के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है.

इसके अलावा यह मस्तिष्क को स्वस्थ रखने में भी फायदेमंद होता है. हड्डियों की मजबूती के लिए कैल्शियम तत्व की भी आवश्यकता होती है जो पालक के जूस के द्वारा पूरी की जा सकती है.

मात्रा:

प्रति 100 ग्राम पालक में 482.9 माइक्रोग्राम विटामिन के होता है जो दैनिक स्तर का 402% प्रदान करता है एवं 99 मिलीग्राम कैल्शियम होता है जो दैनिक स्तर का 10% प्रदान करता है.

8. पेट के लिए पालक का जूस (spinach juice for stomach)

आज के समय में अक्सर लोग पेट की परेशानियों को लेकर बहुत परेशान रहते हैं, क्योंकि हर प्रकार की बीमारियों की जड़ पेट से ही शुरू होती है.

जब पेट अच्छी तरह साफ नहीं होता है तो हम दिन भर अपने आप को अनबना ही महसूस करते हैं. ऐसे में पेट से जुड़ी हुई समस्याओं के निदान के लिए प्रतिदिन एक गिलास पालक के जूस का सेवन करना चाहिए.

दरअसल पालक के जूस में फाइबर तत्व मौजूद होता है जो आसानी से मल त्यागने और पाचन प्रक्रिया को सुचारू रूप से संचालित करने के लिए आवश्यक तत्व माना जाता है.

पेट से जुड़ी हुई समस्याओं को कम करने के लिए आहार में फाइबर युक्त फल और सब्जियों का सेवन अवश्य करना चाहिए.

मात्रा:

प्रति 100 ग्राम पालक के जूस में 2.2 ग्राम फाइबर होता है जो दैनिक स्तर का 6% प्रदान करता है.

9. स्वस्थ ह्रदय के लिए (for a healthy heart)

कई रिपोर्टो से यह ज्ञात हुआ है कि हृदय को स्वस्थ रखने एवं हृदय संबंधित बीमारियों के खतरे को कम करने के लिए पालक जूस के फायदे देखे गए हैं.

चूंकि पालक में फोलेट नामक तत्व होता है जो कोशिका की दीवारों की मोटाई को कम करने एवं रक्त वाहिकाओं को अधिक लचीला बनाने में अहम भूमिका निभाता है.

इसके अलावा पालक के जूस में मौजूद पोटेशियम शरीर के तरल पदार्थ का महत्वपूर्ण घटक है जो हृदय गति और रक्तचाप को नियंत्रित करने में भी मदद करता है.

मात्रा:

प्रति 100 ग्राम पालक के जूस में 558 मिलीग्राम पोटैशियम होता है जो दैनिक स्तर का 12% प्रदान करता है.

10. फेफड़ों को करें मजबूत (strengthen the lungs)

खराब जीवनशैली, प्रदूषण और धूम्रपान की वजह से फेफड़ों से संबंधित बीमारियां बढ़ती जा रही है.

यदि आप आहार में पालक जूस का सेवन करते हैं तो इससे फेफड़ों के रोग जैसे कि अस्थमा, ब्रोंकाइटिस, फेफड़ों का कैंसर और एलर्जी जैसी समस्याओं के खतरे को कम कर सकते हैं.

फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए बीटा केरोटीन एवं विटामिन ए की आवश्यकता होती है जो पालक के जूस में प्रचुर मात्रा में होते हैं.

मात्रा:

प्रति 100 ग्राम पालक के जूस में 5626 माइक्रोग्राम बीटा केरोटीन होता है.

11. रक्तचाप को करें नियंत्रित (control blood pressure)

गलत जीवन शैली शरीर में उच्च रक्तचाप की समस्या को बढ़ावा देती है, जो अन्य रोग जैसे किडनी की समस्या, स्ट्रोक, हाइपरटेंशन का कारण बन सकती है.

जब शरीर में सोडियम की मात्रा अधिक हो जाती है तो यह उच्च रक्तचाप का कारण बन सकता है.

कई विशेषज्ञों के अनुसार उच्च रक्तचाप की समस्या के खतरे को कम करने के लिए आहार में पालक के जूस को भी शामिल किया जा सकता है.

इसमें पर्याप्त मात्रा में पोटेशियम की मात्रा पाई जाती है जो रक्तचाप को नियंत्रित करने एवं सोडियम की मात्रा को भी संतुलित करने में सहायक होता है.

मात्रा:

प्रति 100 ग्राम पालक के जूस में 558 मिलीग्राम पोटेशियम होता है कि दैनिक स्तर का 12% प्रदान करता है.

12. वजन कम करने में पालक जूस के फायदे (spinach juice for weight loss)

वजन घटाने के लिए डाइट में आहार विशेषज्ञो द्वारा पालक के जूस का सेवन करने की सलाह दी जाती है क्योंकि इसमें बहुत कम मात्रा में कैलोरी और फाइबर अच्छी मात्रा में होता है जो वजन घटाने मे सहायक होते है.

प्रतिदिन वजन कम करने के लिए डाइट में एक गिलास पालक के जूस का सेवन कर सकते हैं.

प्रतिदिन सुबह-सुबह प्रोटीन शेक में पालक को मिलाकर सेवन करने से पर्याप्त पोषण (प्रोटीन) मिलता है जिससे भूख भी कम लगती है और हम बार-बार खाना खाने से बच जाते हैं जिससे वजन घटाने में मदद मिलती है.

मात्रा:

प्रति 100 ग्राम पालक में 23 कैलोरी होती है जो दैनिक स्तर का 1% प्रदान करती है एवं इसमें 2.6 ग्राम प्रोटीन होता है जो दैनिक स्तर का 5% प्रदान करता है.

13.बालों के लिए फायदेमंद (beneficial for hair)

त्वचा को स्वस्थ रखने के साथ-साथ पालक का जूस बालों के लिए बेहद फायदेमंद होता है. पालक में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज होती है जो रूसी को दूर करने में मदद करते हैं.

बालों की ग्रोथ एवं मजबूती के लिए आयरन तत्व महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, जो बालों की जड़ों तक ऑक्सीजन पहुंचाने में मदद करता है जिससे बाल हेल्दी और मजबूत होते हैं.

मात्रा:

100 ग्राम पालक में 2.71 मिलीग्राम आयरन की मात्रा होती है, जो दैनिक स्तर का 34% प्रदान करता है.

पालक जूस के पोषक तत्वों की मात्रा प्रति 100 ग्राम (Spinach juice nutrient value in hindi)

According to the USDA National Nutrients Database

पोषक तत्व (Nutrients) मात्रा प्रति 100 ग्राम (The quantity) अनुशंसित आहार भत्ता (Recommended Dietary Allowance)
ऊर्जा (Energy) 23 Kcal 1%
कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates) 3.63 g 3%
प्रोटीन (Protein) 2.86 g 5%
टोटल फैट (Total fat) 0.39 g 1.5%
कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) 0 mg 0%
फाइबर (Dietary Fiber) 2.2 g 6%
फोलटेस (Folates) 194 µg 48.5%
नियासिन (Niacin) 0.724 mg 4.5%
पैंटोथैनिक एसिड (pantothenic acid) 0.065 mg 1%
पाइरिडोक्सिन (pyridoxine) 0.195 mg 15%
राइबोफ्लेविन (Riboflavin) 0.189 mg 14.5%
थायमिन (Thiamin) 0.078 mg 6.5%
विटामिन (Vitamin A) 9377 IU 321%
विटामिन (Vitamin C) 28.1 mg 47%
विटामिन (Vitamin E) 2.03 mg 13.5%
विटामिन (Vitamin K) 482.9 IU 402%
सोडियम (Sodium) 79 mg 5%
पोटेशियम (Potassium) 558 mg 12%
आयरन (Iron) 2.71 mg 34%
मैग्नीशियम (Megnesium) 79 mg 20%
मैग्नीज (Manganese) 0.897 mg 39%
जिंक (Zinc) 0.53 mg 5%
कैल्शियम (Calcium) 99 mg 10%
बीटा कैरोटीन (beta carotene) 5.626 µg -

पालक का जूस कैसे बनाएं? | how to make spinach juice in hindi

ऊपर लेख में पालक के जूस के फायदे के बारे में जाना जिन्हें जानने के बाद पालक का जूस पीने की इच्छा होने लगती है लेकिन समस्या यह है कि पालक का जूस कैसे बनाएं, तो आइए जानते हैं पालक का जूस बनाने की विधि.

सामग्री:

▪ एक कप पालक की पत्तियां.
▪ 2-4 पुदीने की पत्तियां.
▪ एक गिलास पानी.
▪ आधा चम्मच से कम भुना जीरा.
▪ स्वादानुसार काला नमक और नींबू.

बनाने की विधि:

▪ सबसे पहले पालक और पुदीने की पत्तियों को अच्छे से धो लें.

▪ अब मिक्सी में पालक और पुदीने की पत्तियां डालें साथ में इसमें थोड़ा सा पानी भी डाल सकते हैं जिससे मिक्सी में इसका मिश्रण अच्छे से पीस जाएं.

▪ जब पालक महीन पीस जाए तो इसे एक बाउल में निकाले.

▪ इसमें अपने अनुसार पानी, भुना जीरा, नींबू और काला नमक मिला सकते हैं.

▪ आप पालक के जूस मे गाजर, टमाटर, आंवला, चुकंदर को भी मिला सकते हैं.

पालक का जूस कब पीना चाहिए? | When to drink spinach juice in hindi

जैसा कि ऊपर लेख में पड़ चुके हैं पालक का जूस पीने से स्वास्थ्य को अनगिनत लाभ होते हैं.

अक्सर लोग यह पूछते हैं कि पालक का जूस किस समय पीना चाहिए, तो इसका जवाब है कि पालक का जूस सुबह के समय पीने से लाभ अधिक होता है परंतु आप इसे अपनी आवश्यकतानुसार किसी भी समय पी सकते हैं. 

आप अपने आहार में पालक के जूस का सेवन हफ्ते में तीन बार या रोजाना शामिल कर सकते हैं.

पालक जूस पीने के नुकसान | side effects of spinach juice in hindi

जितनी पालक खाने में फायदेमंद होती है उतना ही इसका जूस भी लाभदायक होता है, परंतु किसी भी खाद पदार्थ की अधिकता शरीर को कहीं ना कहीं नुकसान पहुंचा सकती है.

तो आइए जान लेते हैं, पालक जूस के क्या नुकसान हो सकते हैं?

1. पालक जूस का अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे एलर्जी की समस्या भी हो सकती है.

2. पालक की तासीर ठंडी होती है इसलिए इसका सर्दियों में इस्तेमाल कम करना चाहिए.

3. किडनी की समस्या से पीड़ित व्यक्तियों को पालक जूस का सेवन करने से बचना चाहिए.

4. अगर कोई व्यक्ति खून पतला करने की दवा का सेवन कर रहा है तो उसे पालक के जूस से परहेज करना चाहिए या डॉक्टर की सलाह अवश्य लेनी चाहिए.

निष्कर्ष | Conclusion

इस लेख को पढ़कर यह निष्कर्ष मिलता है कि संतुलित मात्रा में पालक के जूस का सेवन करने से न सिर्फ शरीर को स्वस्थ रखा जा सकता है बल्कि रोग मुक्त भी बनाया जा सकता है.

हरी पत्तेदार सब्जियों में पालक की गिनती सबसे ऊपर की जाती है क्योंकि इसमें विटामिन और खनिज तत्वों का भंडार होता है.

इसलिए त्वचा की चमक, बालों को स्वस्थ, आंखों की रोशनी बढ़ाने और कई अनगिनत लाभ के लिए अपनी डाइट में पालक के जूस का सेवन अवश्य करें.

पूछे जाने वाले प्रश्न | FAQ

Q. पालक जूस में कौन से पोषक तत्व होते हैं?

A. पालक के जूस में कई तरह के विटामिन और खनिज तत्व होते हैं जैसे कि आयरन, प्रोटीन, डाइटरी फाइबर, फोलेट, कैल्शियम, कॉपर, पोटेशियम, सोडियम, विटामिन (सी, ए, के) इत्यादि.

Q. पालक जूस पीने के क्या फायदे हैं?

A. शरीर को स्वस्थ रखने के लिए पौष्टिक तत्वों की आवश्यकता होती है जो कि पालक में प्रचुर मात्रा में होते हैं. इसके सेवन से हृदय एवं फेफड़े की मजबूती, उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करना, इम्युनिटी बढ़ाने, एनीमिया की रोकथाम, बालों और त्वचा की देखभाल, गर्भावस्था, स्वस्थ दृष्टि एवं हड्डियों की मजबूती के लिए फायदेमंद है.

Q. पालक का जूस किस समय पीना चाहिए?

A. पालक का जूस दिन भर में आप किसी भी समय पी सकते हैं परंतु सुबह के समय पालक जूस पीने से फायदे अधिक होते हैं.

Q. पालक की तासीर कैसी होती है?

A. पालक की तासीर ठंडी होती है इसलिए सर्दियों में इसका सेवन अधिक नहीं करना चाहिए.

Q. क्या रोजाना पालक का जूस पीना चाहिए?

A. आप हफ्ते में तीन बार या अपनी आवश्यकता के अनुसार प्रतिदिन जूस पी सकते हैं, परंतु किसी भी चीज की अधिकता नुकसानदायक हो सकती है.

और भी जाने (know more)..

Post a Comment