July 16, 2021

रस्सी कूदने के फायदे और नुकसान | Benefits of jumping rope in hindi

रस्सी कूदने का सही समय, तरीका, 12 फायदे और नुकसान | Benefits of jumping rope
रस्सी कूदना दूसरी एक्सरसाइज की तुलना में अधिक कैलोरी जलाता है.

रस्सी कूदना कार्डियो एक्सरसाइज की एक बेहतरीन एक्सरसाइज है. विश्व स्तर के बड़े-बड़े एथलीट और जिम ट्रेनर भी बॉडी को फिट रखने के लिए रस्सी कूदने (स्किपिंग रोप) की सलाह देते हैं.

आपने देखा होगा कि विश्व स्तरीय एथलीट रस्सी कूदने से कभी नहीं चूकते वह बराबर अपने वर्कआउट में इस एक्सरसाइज को जरूर करते हैं.

जब हम बच्चे होते हैं तो अक्सर रस्सी कूदने के खेल को खेलते थे लेकिन उस समय रस्सी कूदने के फायदे के बारे में पता नहीं था और आज भी उसी खेल को एक्सरसाइज के रूप में अपने शरीर को मानसिक और शारीरिक रूप से फिट रखने के लिए करते हैं.

आजकल की जीवन शैली इतनी भागदौड़ वाली हो गई है कि लोगों के पास अपनी सेहत की देखभाल करने के लिए भी समय नहीं है, उन लोगों के लिए रस्सी कूदना एक्सरसाइज एक बहुत अच्छा विकल्प है.

इसलिए इस लेख के द्वारा जानने की कोशिश करेंगे कि रस्सी कूदने के क्या फायदे और नुकसान होते हैं, रस्सी कैसे कूदे, रस्सी कूदने का तरीका और सही समय के बारे में?

इस एक्सरसाइज का फायदा (रस्सी कूदने के फायदे) यह है कि यदि आप 10 से 15 मिनट रोजाना सुबह रस्सी कूदते है तो इससे पूरी बॉडी का वर्कआउट होता है जिससे आप थोड़े से ही समय में बहुत अच्छा परिणाम पा सकते हैं और साथ ही कई बीमारियों से भी बच सकते हैं.


    रस्सी कूदने के फायदे | Benefits of jumping rope in hindi

    रस्सी कूदने (जंपिंग रोप) से शरीर को अनेक लाभ होते हैं जिससे शरीर की मानसिक और शारीरिक शक्ति बढ़ती है और कई गंभीर बीमारियों से भी सुरक्षित रहते हैं.

    तो आइए जानते हैं रस्सी कूदने के लाभ.

    1. वजन घटाने में रस्सी कूदने के फायदे (Benefits of jumping rope in weight loss)

    यदि आप अपने मोटापे या ज्यादा वजन होने से परेशान हैं तो यह एक्सरसाइज आपके लिए बहुत ही कारगर साबित होगी क्योंकि इस एक्सरसाइज से हम अपनी अधिक से अधिक कैलोरी बर्न कर सकते हैं.

    रस्सी कूदने से शरीर का मेटाबॉलिज्म स्तर बढ़ता है जिससे वजन और शरीर पर चढ़ी हुई अतिरिक्त चर्बी को कम करने में लाभ मिलता है.

    उदाहरण के लिए एक 69 किलो की महिला जो 3500 कैलोरी घटाने में सक्षम है वह हर हफ्ते 500gm वजन कम कर सकती है लेकिन वह हर दिन अगर 20 मिनट रस्सी कूदे तो वह हर रोज अतिरिक्त 200 कैलोरी बर्न कर सकती है.

    इसके जरिए वह अतिरिक्त 500 ग्राम वजन घटा सकती है इससे वह हर हफ्ते कुल 1 किलो तक वजन कम कर सकती है.

    यह माना जाता है कि यदि आप आधे घंटे दौड़ते हैं जो आपके 10 मिनट तेजी से की गई रस्सी कूदने के बराबर होते हैं.

    2. हड्डियों की मजबूती (Bone strength)

    रस्सी कूदने से हाथ और पैरों की हड्डियों में मजबूती आती है इस एक्सरसाइज को करने से हड्डियों के घनत्व में सुधार होता है.

    बहुत से एथलीट रस्सी कूदने की एक्सरसाइज इसलिए करते हैं कि उनकी पैरों की हड्डियों में मजबूती आए और उन्हें चोट लगने की संभावना भी कम हो.

    उम्र के साथ-साथ हड्डियां भी कमजोर पड़ने लगती हैं जिससे जोड़ों में दर्द, गठिया रोग और ओस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारियां होने लगती हैं इन बीमारियों से भी बचने के लिए यह एक्सरसाइज बहुत लाभदायक है.

    3. स्वस्थ हृदय की मजबूती (Healthy heart strength)

    जब हम रस्सी कूदने की एक्सरसाइज करते हैं तो इससे हमारे दिल की धड़कनों की दर बढ़ने लगती है जिस कारण हृदय मजबूत होता है, कार्य करने की क्षमता और हृदय के पंपिंग की गति बढ़ जाती है जिससे ब्लड सर्कुलेशन पूरे शरीर में सुचारू रूप से होता है.

    रस्सी कूदने से हृदय की कई गंभीर बीमारियों से बच सकते हैं जैसे कि हार्ट-स्ट्रोक, हार्ट-अटैक, हाइपरटेंशन और हार्ट-ब्लॉकेज आदि.

    4. तनाव मुक्त रहने में (Stress Free Living)

    रस्सी कूदना एक ऐसी एक्सरसाइज होती है जिससे टेंशन फ्री रह सकते हैं क्योंकि रस्सी कूदने से पूरे शरीर का वर्कआउट होता है जिससे बॉडी में ब्लड सरकुलेशन तेज हो जाता है और यह दिमाग की नसों को रिलैक्स महसूस करवाता है.

    किसी भी प्रकार का व्यायाम करने से शरीर के अंदर एक नई ऊर्जा का आगमन होता है जिस कारण हम अपने आपको फ्रेश और तनावमुक्त महसूस करते हैं.

    तनाव मुक्त रहना हमारी सोच पर निर्भर करता है यदि आप सकारात्मक विचारों को अपने मन में लाएंगे तो आप कभी भी तनावग्रस्त नहीं हो सकते हैं और सकारात्मक विचार तभी आएंगे जब आप स्वस्थ और फिट रहेंगे.

    5. पेट की चर्बी कम करने में रस्सी कूदने के लाभ (Benefits of jumping rope to reduce belly fat)

    अक्सर हम अपने बढ़ते हुए पेट से परेशान रहते हैं और यह सब हमारे गलत खानपान की वजह से होता है जैसे कि बाहर का ज्यादा खाना खाना, ज्यादा ऑयली चीजें, प्रॉपर डाइट ना लेना इन सब की वजह से धीरे-धीरे कमर और पेट पर चर्बी बढ़ने लगती है.

    तो इस बढ़ती हुई चर्बी को तेजी से कम करने के लिए हम रस्सी कूदने (जंपिंग रोप) की एक्सरसाइज कर सकते हैं. इस एक्सरसाइज का सबसे अच्छा फायदा यह होता है कि यह अधिक मात्रा में कैलोरी जलाता है जिससे आप बहुत जल्द वजन या पेट को अंदर कर सकते हैं.

    यदि आप प्रतिदिन 10- 15 मिनट रस्सी कूदते हैं तो 1 हफ्ते में ही आपको इसका परिणाम देखने को मिलेगा. लेकिन इसके साथ-साथ आप अपनी डाइट पर भी ध्यान रखें और संतुलित आहार का सेवन करें.

    रस्सी कूदने का सही समय, तरीका, 12 फायदे और नुकसान | Benefits of jumping rope
    रस्सी कूदने से शरीर को मिलते हैं कई सेहतमंद फायदे.

    6. कार्यक्षमता बढ़ाएं (Increase efficiency)

    रस्सी कूदने से शरीर की स्टेमिना बढ़ती है क्योंकि इससे पूरी बॉडी का वार्म अप होता है. इस एक्सरसाइज को करने के लिए शरीर की हर एक मांसपेशी में खिंचाव उत्पन्न होता है जिससे मांसपेशियां मजबूत होती हैं.

    जब शरीर की मांसपेशियां मजबूत होंगी तो शरीर की स्टेमिना अपने आप ही बढ़ेगी और साथ में शरीर का संतुलन भी बना रहता है.

    व्यायाम करने का फायदा ही यही होता है कि यह शरीर की शारीरिक कार्य क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है.

    7. फेफड़ों की मजबूती (Strong lungs)

    इस एक्सरसाइज के द्वारा फेफड़ों की कार्यक्षमता और सांस लेने की प्रक्रिया में सुधार कर सकते हैं. रस्सी कूदने से फेफड़ों की कार्य क्षमता तथा कार्य करने की गति बढ़ जाती है.

    जिस कारण फेफड़ों के अंदर जमी हुई गंदगी बाहर निकलती है जिससे श्वसन प्रक्रिया भी मजबूत होती है. फेफड़ों से संबंधित होने वाली बीमारी पल्मोनरी से बचा जा सकता है.

    8. अधिक मात्रा में कैलोरी बर्न (Burn more calories)

    विशेषज्ञों का यह भी कहना है की रस्सी कूदने से दूसरे एक्सरसाइजओं की अपेक्षा अधिक मात्रा में कैलोरी बर्न कर सकते हैं जिस कारण वजन को कम करने में बहुत जल्द फायदा मिलता है.

    यदि आप प्रतिदिन सुबह के समय 20 मिनट रस्सी कूदने की एक्सरसाइज करते हैं तो आप 200 कैलोरी बर्न करते हैं इसका मतलब आप 1 हफ्ते में 1 पौंड कैलोरी कम कर सकते हैं.

    9. त्वचा के निखार (Skin whitening)

    चेहरे की सुंदरता के लिए जितना विटामिन सी जरूरी होता है उतना ही व्यायाम जरूरी है. रस्सी कूदने के व्यायाम से त्वचा पर प्राकृतिक रूप से निखार ला सकते हैं क्योंकि इस एक्सरसाइज को करने से शरीर के अंदर रक्त का संचार तेजी से बढ़ता है जिससे त्वचा पर निखार आता है.

    त्वचा से संबंधित समस्याएं जैसे कि चेहरे पर होने वाले दाग धब्बे, चेहरे पर जमा हुआ फैट, कील मुंहासे दूर हो जाते हैं. एक्सरसाइज करने से चेहरे पर नई रौनक और चेहरे में कसाव आता है.

    10. संतुलन बनाए रखें (Keep balance)

    रस्सी कूदने से हमारे पैरों का संतुलन बेहतर बनता है क्योंकि यह एक्सरसाइज सबसे ज्यादा आपके पैरों के ऊपर ही केंद्रित होती है.

    इसलिए बड़े-बड़े एथलीट रस्सी कूदने की एक्सरसाइज को जरूर करते हैं, पैरों और पंजों की कई परेशानियों में भी आराम मिलता है.

    11. जोड़ों का दर्द (Joint pain)

    बढ़ती उम्र के साथ पैरों की मांसपेशियों में हल्की झनझनाहट, और पैरों के जोड़ों में दर्द बना रहता है. इस दर्द को कम करने के लिए यदि रोजाना सुबह 10 मिनट रस्सी कूदते है तो इससे घुटने, कमर, कूल्हों के जोड़ों की गतिविधियां बढ़ जाती हैं जिससे पैरों के जोड़ों के दर्द में काफी आराम मिलता है.

    भविष्य में ऐसी समस्याएं पैदा ना हो इस इसलिए आज से ही प्रतिदिन 5 या 10 मिनट रस्सी जरूर कूदे.

    12. लंबाई बढ़ाने में रस्सी कूदने के फायदे (jump rope to increase length)

    कई विशेषज्ञों का कहना है कि रस्सी कूदने से लंबाई में तेजी से वृद्धि होती है क्योंकि जब हम रस्सी कूदते हैं तो शरीर के अंदर ब्लड सरकुलेशन तेजी से बढ़ता है.

    जिससे हाथ-पैरों की मांसपेशियां तथा हड्डियों में फैलाव होता है जिस कारण लंबाई में वृद्धि होती है. अक्सर बच्चों को रोजाना सुबह 5-10 मिनट रस्सी जरूर कूदना चाहिए.

    रस्सी कूदने का सही समय, तरीका, 12 फायदे और नुकसान | Benefits of jumping rope

    रस्सी कैसे कूदे | How to jump rope in hindi?

    1. सबसे पहले रस्सी की नाप अच्छे से ले लें, रस्सी को अपने पैरों के नीचे दबा कर दोनों कोहनों को अपने सीने तक लाना होता है इससे रस्सी की नाप होती है.

    2. रस्सी कूदने के पहले आप थोड़ा सा वार्म-अप करें, फिर जब आप रस्सी कूदना शुरू करते हैं तो पंजों के बल कूदे ना ही ज्यादा धीरे और ना ही तेज.

    3. रस्सी कूदने के समय आपको अपने हाथों की कलाइयों को घुमाना है पूरा हाथ नहीं.

    4. शुरुआत में 15-20 गिनती की रस्सी कूदने का एक सेट करें फिर थोड़ा रेस्ट करें फिर इसे दोहराएं.

    5. जब आप एक सेट आसानी से कर लेंगे तो धीरे-धीरे रस्सी कूदने की गिनती को बढ़ाते जाएं.

    रस्सी कूदने का सही समय | Right time to jump rope in hindi

    कई विशेषज्ञों का यह कहना होता है कि रस्सी कूदने का फायदा सुबह के समय अधिक होता है पर शाम के समय भी रस्सी कूद सकते हैं.

    लेकिन सुबह एक्सरसाइज करने से हम पूरे दिन स्वस्थ और फिट रहते हैं. सुबह के समय आप जल्दी उठे थोड़ा सा अपने आपको वार्म अप करें और फिर 15-20 मिनट तक रस्सी कूदे.

    यह आपके ऊपर है कि आप कितनी देर तक रस्सी कूद सकते हैं. सुबह के समय एक्सरसाइज करने से ब्लड सरकुलेशन अच्छे से होता है, शरीर में नई ऊर्जा उत्पन्न होती है जो हमें दिनभर एनर्जीटिक बनाए रखती है.

    रस्सी कूदने का तरीका | The right way to jump rope in hindi

    1. दोनों पैरों से कूदना (Jump with both feet)

    दोनों पैरों को एक साथ उठाकर रस्सी कूदना आसान और सरल होता है जिन लोगों ने कभी भी रस्सी नहीं कूदी है वह इसकी शुरुआत कर सकते हैं. बचपन में जब हम खेलते है तो दोनों पैरों से ही रस्सी कूदने की शुरुआत करते हैं.

    2. एक पैर से कूदना (Single leg jump)

    एक पैर से कूदना रस्सी कूदने की एक्सरसाइज को बहुत अभ्यास के बाद ही किया जा सकता है क्योंकि इसमें शरीर का संतुलन बनाना बहुत जरूरी है.

    इसलिए जो लोग शुरुआत कर रहे हैं वैसे इस एक्सरसाइज को शुरुआत में ना करें अन्यथा आप को चोट लग सकती है.

    3. हाथ क्रॉस करना (Hand cross)

    इस तरह की रस्सी कूदने वाला अपने हाथों को सामने की तरफ क्रॉस कर लेता है कई बार इस तरीके की रस्सी कूदने की एक्सरसाइज में पैरों में रस्सी फस कर गिरने का डर लगा रहता है.

    इसलिए क्रॉस रस्सी कूदने की एक्सरसाइज को आप तभी करें जब आप अच्छे से परफेक्ट हो जाएं.

    रस्सी कूदने के नियम और सावधानियां | Rope jumping rules in hindi

    किसी भी प्रकार की एक्सरसाइज करने से पहले हमें कुछ बातों का ध्यान रखना पड़ता है तो आइए जानते हैं रस्सी कूदने के नियम.

    ◾ जब हम किसी भी व्यायाम की शुरुआत करते हैं तो हमें धीरे-धीरे शुरुआत करनी चाहिए इसी प्रकार यदि हम रस्सी कूदने की एक्सरसाइज को शुरू करते हैं तो शुरू में 20-30 बार गिनती तक रस्सी कूदे और वह भी धीरे-धीरे. 

    ◾ शुरुआत में जोश-जोश में अधिक रस्सी नहीं कूदनी चाहिए क्योंकि इससे हमारी मांसपेशियों में खिंचाव आ सकता है.

    ◾ रस्सी सुबह के समय खाली पेट कूदे इससे आपकी बॉडी को कई लाभ होंगे.

    ◾ रस्सी कूदने की एक्सरसाइज शुरू करने के पहले अपनी बॉडी को थोड़ा सा वार्म अप या स्ट्रैचिंग कर लें.

    ◾ रस्सी कूदने के कुछ देर पहले पानी जरूर पिए, रस्सी कूदने के दौरान और तुरंत बाद पानी ना पिए.

    ◾ अगर रस्सी कूदने के समय आपकी सांस फूलने लगे तो आप कुछ देर आराम कर ले या आप रस्सी कूदना बंद कर दें.

    ◾ रस्सी कूदने का व्यायाम यदि आप सुबह खुली जगह पर करेंगे तो एक्सरसाइज के दौरान शुद्ध हवा भी मिलेगी. 

    ◾ रस्सी कूदने के लिए एक अच्छी क्वालिटी वाली रस्सी खरीदें जो कि टूटे ना और आप चोट लगने से बच सकें.

    ◾ रस्सी कूदने के समय आरामदायक कपड़े और स्पोर्ट्स शूज जरूर पहने.

    किन लोगों को रस्सी नहीं कूदना चाहिए | Who shouldn't jump rope in hindi?

    रस्सी कूदने से उन लोगों को परहेज करना चाहिए जिन लोगों को स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं चल रही हो या वह डॉक्टर की सलाह लेने के बाद ही एक्सरसाइज करें.

    1. दिल से जुड़ी हुई किसी भी प्रकार की बीमारी से ग्रस्त लोगों को रस्सी नहीं कूदना चाहिए.

    2. अगर आपने किसी भी प्रकार का ऑपरेशन या सर्जरी करवाई है तो आप डॉक्टर की सलाह लेने के बाद ही रस्सी कूदे.

    3. रस्सी कूदने से पैरों की हड्डियों पर अधिक जोर पड़ता है, अगर आपको हड्डियों से संबंधित कोई समस्या हो तो आप रस्सी ना कूदे.

    4. हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से जूझ रहे लोगों को भी रस्सी नहीं कूदनी चाहिए.

    5. सांस संबंधी बीमारी होने पर भी रस्सी कूदना नहीं चाहिए.

    6.अगर आपके पैरों में पहले कोई गंभीर चोट लग चुकी हो जो बाद में रस्सी कूदने से उखड़ सकती हैं तो हमेशा डॉक्टर की सलाह लेने के बाद ही रस्सी कूदे.

    रस्सी कूदने के नुकसान | disadvantage of Jump rope in hindi

    हर एक एक्सरसाइज के फायदे भी होते हैं और कुछ नुकसान भी. वैसे तो रस्सी कूदने के केवल लाभ ही होते हैं यदि हम हर एक नियम को फॉलो करते हैं.

    लेकिन इसके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं तो आइए इन्हें भी जान लेते हैं.

      1. रस्सी कूदने के समय रस्सी के टूटने पर चोट लग सकती हैं.

      2. कई बार गलत तरह रस्सी कूदने से पैरों में मोच आ जाती है.

      3. अधिक मात्रा में रस्सी कूदने से मांसपेशियों में खिंचाव भी आ सकता है.

      4. शुरुआत में अधिक रस्सी कूदने से तलवों में दर्द हो सकता है.

    आखिरी शब्द | Last word

    इस पूरी पोस्ट को पढ़कर अंदर से इच्छा होती है कि आज से ही हम रस्सी कूदने की एक्सरसाइज शुरू करते हैं. क्योंकि रस्सी कूदना शारीरिक और मानसिक क्षमता बढ़ाने का कार्य करती है.

    हमने जाना कि रस्सी कूदने के फायदे, सही समय, तरीका, सावधानियां और किन लोगों को रस्सी नहीं कूदनी चाहिए.

    रस्सी कूदने के लिए जो जानकारी होना जरूरी है वह हमने इस पूरे लेख में कवर किया है आशा करते हैं कि यह जानकारी आपके काम आए.

    रस्सी कूदने से संबंधित प्रश्न | FAQ 

    Q. रस्सी कूदने से क्या लाभ होते हैं?

    A. रस्सी कूदने से शरीर की मानसिक और शारीरिक क्षमता बढ़ती है, चेहरे पर ग्लो आता है, फेफड़े, हृदय और हड्डियों की मजबूती के लिए रस्सी कूदना बहुत फायदेमंद होता है.

    Q. रस्सी कूदने से क्या नुकसान होता है?

    A. अधिक रस्सी कूदने से पैरों के तलवों में दर्द हो सकता है, मांसपेशियों में खिंचाव और मौच भी आ सकती है. 

    Q. क्या रस्सी कूदने से पेट कम हो सकता है?

    A. जी हां, रस्सी कूदने से शरीर की अधिक मात्रा में कैलोरी बर्न होती है जिससे आप बहुत जल्द अपने पेट की चर्बी को कम कर सकते हैं.

    Q. रस्सी कूदने से कितनी कैलोरी बर्न होती है?

    A. यदि आप 20 मिनट रस्सी कूदते हैं तो आप 200 कैलोरी बर्न करते हैं. 

    अगर स्वस्थ और फिट रहना है तो व्यायाम जरूर करें.    

    धन्यवाद.

    यह जानकारी भी पढ़ें.    

    Share Post

    0 Comments: