विटामिन सी के फायदे, नुकसान और विटामिन C फलों के नाम | Benefits of vitamin C in hindi

विटामिन सी के फायदे, नुकसान और विटामिन C फलों के नाम | Benefits of vitamin C in hindi
विटामिन सी के फायदे और नुकसान एवं विटामिन सी के कमी के लक्षण.

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हर प्रकार के विटामिंस की आवश्यकता होती है उन्हीं में से आज हम विटामिन C के फायदे (Benefits of vitamin c) के बारे में विस्तृत रूप से चर्चा करेंगे.

विटामिन C एक प्रकार का पोषक तत्व (nutrients) होता है जो शरीर की कई क्रियाओं को करने और शरीर को स्वस्थ (Healthy) रखने के लिए जरूरी होता है.

जिस प्रकार वाहन बिना ईंधन के नहीं चल सकता उसी प्रकार शरीर भी बिना पोषक तत्वों के स्वस्थ नहीं रह सकता.

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हमें उन फल और सब्जियों का सेवन करना चाहिए जिनकी ORAC (oxygen radical absorption capacity) वैल्यू अधिक हो. ORAC वैल्यू का मतलब किसी भी चीज के अंदर एंटी-ऑक्सीडेंट क्षमता को मापना होता है.

एक अध्ययन के अनुसार यदि हम पालक और ब्लूबेरी का सेवन करते हैं तो इससे शरीर और मस्तिष्क दोनों के उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करने में मदद मिलती है. पालक और ब्लूबेरी दोनों के अंदर ही विटामिन C की अच्छी मात्रा पाई जाती है.

हम चर्चा करेंगे कि विटामिन C कमी के क्या लक्षण होते हैं? और विटामिन सी वाले फलों तथा सब्जियों के नाम. 


    विटामिन सी क्या है एवं इसके कार्य | What is Vitamin C in hindi?

    आइए जानते हैं विटामिन C का शरीर के अंदर क्या काम होता है और इससे जुड़ी हुई कुछ जानकारी?

    • विटामिन C को हम एस्कॉर्बिक अम्ल के नाम से भी जानते हैं जो एक एंटीऑक्सीडेंट गुणों वाला अम्ल होता है. 
    • शरीर स्वयं विटामिन सी पोषक तत्व का निर्माण नहीं करता है इसे फल और सब्जियों से ग्रहण करना होता है.
    • शरीर के अंदर जो जरूरी रसायनिक क्रिया होती है उनमे विटामिन C सहायक होता है.
    • विटामिन C एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करता है.
    • विटामिन C का कार्य शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करना होता है.
    • विटामिन C का काम कई गंभीर बीमारियों से बचाना भी होता है जैसे कि हृदय रोग, डायबिटीज, तनाव, एलर्जी और अस्थमा आदि.
    • विटामिन सी का काम कोशिकाओं के अंदर ऊर्जा प्रभावित करना भी होता है.
    • शरीर के कई अंग विकसित तथा उन्हें आकार देने के लिए विटामिन C की आवश्यकता होती है.
    • विटामिन सी शरीर के अंदर हड्डियों, मांसपेशियों, त्वचा, रक्त वाहिकाओं को दुरुस्त रखने के लिए सहायक होता है.

    विटामिन सी के फायदे | Benefits of vitamin c in hindi

    शरीर को हमेशा स्वस्थ रखने के लिए हमें पोषक तत्वों (nutrients) की आवश्यकता होती है उनमें से एक पोषक तत्व विटामिन C होता है जो शरीर की अंदरूनी और बाहरी देखभाल के लिए बहुत आवश्यक होता है.

    तो आइए जानते हैं विटामिन सी के फायदे (Benefits of vitamin c).

    1. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में (Increase immunity)

    विटामिन C का सेवन शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (Immunity) को बढ़ाने में अहम योगदान देता है क्योंकि विटामिन सी एक शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट के रूप में शरीर के अंदर कार्य करता है.

    जिसके कारण शरीर के सभी विषैले तत्व पसीने या मूत्र के द्वारा बाहर निकल जाते हैं जिससे प्रतिरक्षा प्रणाली भी मजबूत होती है.

    यदि हमारे शरीर की इम्यूनिटी पावर मजबूत होगी तो हम बाहरी संक्रमण से हमेशा सुरक्षित रहेंगे.

    2. ऊर्जावान बनाए रखें (Keep energetic)

    ऊर्जावान बने रहने के लिए शरीर को विटामिन की आवश्यकता होती है.

    यह विटामिन शरीर के लिए ईंधन का काम करते हैं और इसी ईंधन से ऊर्जा का संचालन होता है जिससे कोशिकाओं के अंदर ऊर्जा का बहाव होता है.

    विटामिन C शरीर को एनर्जेटिक रखने के लिए बहुत ही जरूरी पोषक तत्व है.

    3. वजन घटाने में सहायक (Helpful in weight loss)

    यदि हम अपने बढ़ते हुए मोटापे से परेशान हैं तो मोटापे को कम करने के लिए विटामिन सी का सेवन मददगार साबित हो सकता है.

    कई अध्ययनों में यह देखा गया है कि जो लोग नियमित रूप से एक्सरसाइज करते हैं उन्हें विटामिन सी युक्त फल और सब्जियां खाने की सलाह दी जाती है.

    जिससे उनके शरीर पर चढ़ी हुई चर्बी तीव्र गति से कम होने में मदद मिले. विटामिन सी शरीर को स्वस्थ रखने और वजन घटाने के लिए एक सप्लीमेंट्री की तरह काम करता है.

    विटामिन सी के फायदे, नुकसान और विटामिन C फलों के नाम | Benefits of vitamin C in hindi
    विटामिन C के 13 स्वास्थ्यवर्धक फायदे.

    4. वायरल इन्फेक्शन से बचाव (Prevention of viral infection)

    विटामिन C अपने आप में ही एक शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट तत्व होता है जो हमारी इम्यूनिटी पावर को मजबूत करके बाहरी संक्रमण से होने वाले इन्फेक्शन से हमारे शरीर की रक्षा करता है.

    कई अध्ययनों में यह ज्ञात हुआ है कि छोटी-छोटी बीमारियां जैसे सर्दी, खांसी, निमोनिया इनको ठीक करने या इनसे लड़ने में विटामिन C बहुत ही मददगार साबित हुआ है.

    5. डायबिटीज को करें नियंत्रण (Control diabetes)

    जब शरीर के अंदर ग्लूकोज की मात्रा बढ़ने लगती है तो हमें मधुमेह जैसी बीमारियां होने लगती है. जो लोग डायबिटीज रोगी होते हैं उनके लिए विटामिन C का सेवन एक औषधि के रूप में काम करता है.

    कई अध्ययनों में यह पाया गया है कि टाइप 2 डायबिटीज को कम करने या नियंत्रण करने में विटामिन सी बहुत मददगार साबित होता है.

    6. हृदय को रखे स्वस्थ (Keep heart healthy)

    विटामिन C युक्त फल और सब्जियों के सेवन से हृदय से संबंधित होने वाली बीमारियों को काफी हद तक कम कर सकते हैं.

    विटामिन सी (Benefits of vitamin c) एक शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट के रूप में शरीर से विषैले तत्वों को बाहर निकालता है और कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) की मात्रा को भी नियंत्रित करता है.

    जिससे हम हृदय से संबंधित बीमारियों से बच सकते हैं. हृदय से संबंधित बीमारियां जैसे की हार्ट अटैक, हाइपरटेंशन, हार्ट ब्लॉकेज केलोस्ट्रोल लेवल के बढ़ने से ही होती है.

    7. ब्लड प्रेशर को करें नियंत्रण (Control blood pressure)

    जब ब्लड प्रेशर की शिकायत हो जाती है तो हम काफी दवाइयों का सेवन करते हैं साथ ही में यदि हम अपनी डाइट में विटामिन सी युक्त पदार्थों का सेवन करें तो इससे हाई ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है.

    द अमेरिकन जनरल ऑफ क्लीनिकल न्यूट्रिशन से प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार विटामिन C ब्लड प्रेशर को कम करने में काफी प्रभावी होता है परंतु एक बार चिकित्सक की सलाह जरूर लें.

    8. आंखों की देखभाल के लिए (For eye care)

    यदि अपनी आंखों को स्वस्थ रखना है तो हमें अपनी जीवन शैली का विशेष ध्यान रखना पड़ता है. जिसमें ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जो हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो जैसे कि विटामिन सी.

    यदि हम विटामिन सी युक्त फल और सब्जियों का सेवन करते हैं तो इससे हमारी आंखों को तो फायदा होता ही है शरीर के कई और अंगों के लिए भी फायदेमंद होता है.

    विटामिन सी के अंदर एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जो हमारे आंखों में होने वाले इन्फेक्शन को दूर करने में मदद करते हैं.

    कभी-कभी हमारे आंखों की दूर की नजर धुंधली हो जाती है इस धुंधलेपन को दूर करने के लिए विटामिन C युक्त पदार्थ बहुत ही फायदेमंद साबित होते हैं.

    9. मसूड़ों की देखभाल (Gum care)

    विटामिन C युक्त पदार्थों का सेवन करने से शरीर को कई फायदे होते हैं क्योंकि विटामिंस या पोषक तत्व शरीर के लिए एक ईधन के रूप में काम करते हैं.

    कई विशेषज्ञों का यह कहना है कि यदि हम विटामिन सी पदार्थों का सेवन करते हैं तो हमारे मसूड़े हमेशा स्वस्थ रहेंगे और मसूड़ों से संबंधित समस्याएं जैसे मसूड़ों में खून आना, स्कर्वी रोग जैसी बीमारियों भी कम होती है.

    10. एलर्जी (Allergy)

    रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार यह पाया गया कि विटामिन C के अंदर एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटी-एलर्जिक गुण होते हैं जो एलर्जी से संबंधित समस्याओं को खत्म करने के लिए या उनमें राहत दिलाने के लिए मददगार होते हैं.

    जब भी शरीर में कोई बीमारी होती है तो चिकित्सक हमें हमेशा दवाइयां तो देते ही हैं साथ में किस बीमारी में किस तरह के पदार्थों का सेवन करना है इसकी सलाह भी देते हैं.

    11. जलने और घाव भरने में फायदेमंद (burns and healing)

    विटामिन C एक ऐसा पोषक तत्व (Nutrients) है जिसके अंदर कई तरह के गुण पाए जाते हैं. शरीर पर घाव लग जाने या जल जाने से होने वाले इन्फेक्शन को दूर करने में विटामिन सी बहुत ही प्रभावी होता है, क्योंकि इसके अंदर एंटी-इंफेक्शन गुण पाए जाते हैं.

    विटामिन सी के फायदे, नुकसान और विटामिन C फलों के नाम | Benefits of vitamin C in hindi
    विटामिन C के उपयोग से हम कई गंभीर बीमारियों से सुरक्षित रह सकते हैं.

    12. स्वस्थ दिमाग (healthy mind)

    विटामिन C का सेवन दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए बहुत जरूरी होता है क्योंकि दिमाग को वह सभी पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है जो इसे स्वस्थ रख सकें.

    शरीर के अंदर नर्वस सिस्टम को रोजाना भरपूर मात्रा में विटामिन सी की आवश्यकता होती है.

    13. विटामिन C के फायदे त्वचा और बालों के लिए (Benefits of Vitamin C for Skin and Hair)

    यदि अपनी त्वचा और बालों को हेल्दी रखना है तो अपने दैनिक आहार या डाइट पर विशेष ध्यान रखना पड़ता है. 

    शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हमें सभी प्रकार के पदार्थों का सेवन करना चाहिए जिनसे शरीर को अलग-अलग विटामिनों की प्राप्ति होती है क्योंकि यही विटामिन हमारे शरीर की ग्रोथ के लिए आवश्यक होते हैं.

    विटामिन सी के अंदर एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-इन्फ्लेमेटरी और भी कई गुण पाए जाते हैं जो त्वचा को किसी भी प्रकार के नुकसान से बचाते है.

    त्वचा और बालों की देखभाल के लिए मार्केट में बहुत से ऐसे प्रोडक्ट आते हैं जिनके अंदर विटामिन C की अच्छी मात्रा पाई जाती है.

    इसलिए अपनी डाइट में विटामिन सी युक्त फल और सब्जियों का सेवन जरूर करना चाहिए. 

    विटामिन C वाले फलों के नाम | Names of fruits with vitamin C in hindi

    स्वस्थ रहने का एक ही मंत्र है और वह निर्भर करता है आपके खानपान और आपकी जीवन शैली पर. विटामिन C शरीर के लिए एक जरूरी पोषक तत्व (Nutrients) होता है.

    हर प्रकार के खट्टे फलों (Citrus fruits) के अंदर विटामिन C की बहुत अच्छी मात्रा पाई जाती है जैसे कि संतरा, नींबू, अंगूर, कीवी आदि.

    हर फलों के अंदर विटामिन C की अलग-अलग मात्रा होती है और हर फलों के अंदर कई प्रकार के विटामिंस (Vitamins) पाए जाते हैं. स्वस्थ रहने के लिए हमें हमेशा मौसमी फलों का सेवन करना चाहिए.

    नीचे हमने एक टेबल में विटामिन सी के स्रोत (Source of Vitamin C) और उनकी मात्रा के बारे में बताया है.

    According to the USDA National Nutrients Database

    फल (The fruits) मात्रा (The quantity / 100 g)
    अमरूद (Guava) 228 mg
    कीवी (Kiwi) 92.7 mg
    लीची (lychee) 71.5 mg
    पपीता (papaya) 60.9 mg
    स्ट्रॉबेरी (strawberry) 58.8 mg
    संतरा (Orange) 48.5 mg
    अनानास (Pineapple) 47.8 mg
    नींबू (Lemon) 29.1 mg
    आंवला (gooseberry) 27.7 mg
    रसभरी (Raspberry) 26.2 mg
    अंगूर (Grapes) 10.8 mg
    अनार (Pomegranate) 10.2 mg
    ब्लूबेरी (Blueberry) 9.7 mg
    केला (Banana) 8.7 mg
    तरबूज (Watermelon) 8.1 mg
    सेब (Apple) 4.6 mg

    विटामिन C वाले सब्जियों के नाम | Names of vitamin C vegetables in hindi

    सब्जियों के सेवन से भी विटामिन C की अच्छी मात्रा में प्राप्ति होती है. शरीर को सुचारू रूप से चलाने के लिए शरीर के कई अंगों को विटामिंस या पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है जो कि हमें बाहरी खाद पदार्थों (Vitamin C food sources) से प्राप्त होते हैं.

    हमें अपनी डाइट में सब्जियों का सेवन अधिक मात्रा मे करना चाहिए क्योंकि इनके अंदर अलग-अलग प्रकार के विटामिंस पाए जाते हैं.

    नीचे एक टेबल में विटामिन सी सब्जियों के नाम और उनकी मात्रा के बारे में बताया है.

    According to the USDA National Nutrients Database

    सब्जियां (Vegetables) मात्रा (The quantity / 100 g)
    शिमला मिर्च (bell pepper) 127.7 mg
    ब्रोकोली (Broccoli) 89.2 mg
    लाल मिर्च (Red chilly) 76.4 mg
    गोभी (cauliflower) 48.2 mg
    बंद गोभी (Cabbage) 36.6 mg
    पुदीना (Peppermint) 31.8 mg
    पालक (Spinach) 28.1 mg
    चिकरी साग (Chicory greens) 24 mg
    शलगम (Tumip) 21 mg
    आलू (potato) 19.7 mg
    कटहल (Jackfruit) 13.7 mg
    टमाटर (tomato) 13 mg
    लौकी (Gourd) 10.1 mg
    कद्दू (Pumpkin) 9 mg

    विटामिन सी की कमी के लक्षण | Symptoms of vitamin c deficiency in hindi

    शरीर के अंदर जब किसी भी विटामिंस, पोषक तत्व, खनिज तत्व की कमी होने लगती है या कोई बीमारी होती है तो हमें उस बीमारी से संबंधित लक्षण महसूस होने लगते हैं.

    तो आइए जानते हैं विटामिन C की कमी से शरीर मे क्या लक्षण देखने को मिलते हैं.

    ➡ शरीर में खून की कमी (एनीमिया) होने लगती है क्योंकि विटामिन C लाल रक्त कणिकाओं के बनने के लिए सहायक होता है.

    ➡ मसूड़ों से खून आना, मसूड़ों में सूजन का आना, दांतों में दर्द होना.

    ➡ रोग प्रतिरोधक क्षमता या बाहरी संक्रमण से लड़ने की क्षमता कमजोर पड़ जाना.

    ➡ त्वचा और बालों को पर्याप्त विटामिन C ना मिलने से त्वचा का बेजान और बालों का रूखापन, दो मुंह बाल होना.

    ➡ चोट लगने पर घाव भरने में अधिक समय लगना.

    ➡ पर्याप्त मात्रा में विटामिंस ना मिलने से तेजी से वजन बढ़ना.

    ➡ सिर दर्द, पैर दर्द, जोड़ों में दर्द व सूजन का आना.

    विटामिन C के नुकसान | side effects of vitamin C in hindi

    विटामिन C के उपयोग से शरीर को केवल फायदा ही पहुंचता है लेकिन किसी भी चीज की अधिकता नुकसानदायक हो सकती है तो आइए जानते हैं विटामिन सी के क्या नुकसान हो सकते हैं?

    1. अधिक मात्रा में विटामिन C के उपयोग से शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ जाती है जो कि शरीर के दूसरे अंगों के लिए नुकसानदायक हो सकता हैं.

    2. विटामिन C का अधिक मात्रा में सेवन करने से किडनी पर बुरा असर पड़ सकता है क्योंकि जब शरीर में विटामिन सी की अधिकता हो जाती है तो यह मूत्र के द्वारा बाहर ना निकलकर धीरे-धीरे किडनी में जमा होने लगता है जिससे आगे चलकर पथरी की शिकायत हो सकती है.

    3. विटामिन C की अधिकता से हमें दस्त, चक्कर आना, उल्टी, पेटदर्द, सिरदर्द, एलर्जी, ऐठन, अपच जैसी समस्याएं हो सकती हैं.

    4. विटामिन सी की अधिकता से हमें अनिद्रा की समस्या भी उत्पन्न हो सकती है.

    सारांश | Summary in hindi

    इस पूरी पोस्ट से यही निष्कर्ष मिलता है कि पोषक तत्व (विटामिन C) शरीर को स्वस्थ रखने के लिए कितने आवश्यक होते हैं. विटामिन C के फायदे के लिए हर प्रकार की सब्जी और फलों का सेवन कर सकते हैं.

    हमें हमेशा मौसमी फलों और सब्जियों का सेवन करना चाहिए जिनसे पर्यावरण के अनुसार विटामिंस की प्राप्ति होती है.

    हमने यह जाना विटामिन C की कमी के क्या लक्षण होते हैं? विटामिन C वाले फलों के नाम (vitamin c fruit name list) और सब्जियों के नाम (vegetables name list).

    विटामिन शरीर की अनेक क्रियाओं को करने के लिए ईंधन के रूप में काम करते हैं जिस कारण शरीर स्वस्थ रहता है और कई बीमारियों से भी बचे रहते हैं.

    विटामिन C से संबंधित प्रश्न | FAQ

    Q. विटामिन सी वाले फल कौन-कौन से हैं?

    A. विटामिन सी वाले फल फलों के नाम संतरा, आमला, नींबू, पपीता, केला, अमरूद, स्टोबेरी, रसभरी, अनार, ब्लूबेरी, कीवी, लीची, तरबूज आदि.

    Q. विटामिन सी वाली सब्जियां कौन-कौन सी हैं?

    A. विटामिन सी वाली सब्जियों के नाम शिमला मिर्च, ब्रोकोली, लाल मिर्च, गोभी, बंद गोभी, पुदीना, पालक, शलगम, आलू, कटहल, टमाटर, लौकी, कद्दू आदि.

    Q. किस फल में सबसे ज्यादा विटामिन होता है?

    A. अमरूद फल के अंदर सबसे ज्यादा विटामिन पाया जाता है. हर 100 ग्राम अमरूद की मात्रा में 228 mg विटामिन C होता है. हमने अपने लेख में कई विटामिन सी फलों के नाम तथा उनकी मात्रा के बारे में बताया है. 

    Q. क्या विटामिन C शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है?

    A. जी हां, विटामिन सी एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट होता है जो शरीर को बाहरी संक्रमण से लड़ने में प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है.

    Q. विटामिन सी के क्या-क्या लाभ है?

    A. विटामिन C हमारे शरीर की कई क्रियाओं को करने के लिए आवश्यक होता है इससे हम कई गंभीर बीमारियों से भी बचे रहते हैं जैसे कि हाइपरटेंशन, हार्ट-अटैक, एनीमिया, हाई-ब्लड प्रेशर, आदि. विटामिन C त्वचा और बालों की सेहत के लिए जरूरी होता है.


    Our bodies are our gardens – our wills are not gardeners.

    हमारे शरीर बगीचों की तरह है हमारे संकल्प माली की तरह हैं. 

    ** William Shakespeare**

    धन्यवाद.

    Share Post

    0 Comments: