फेफड़ों (लंग्स) को स्वस्थ रखने के लिए 9 अचूक उपाय और योगासन | healthy lungs in hindi

फेफड़ों (लंग्स) को स्वस्थ रखने के लिए 9 अचूक उपाय और योगासन

फेफड़े हमारे शरीर के एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंग है जिनके बिना जीवन की कल्पना करना भी संभव नहीं है.

आज हम अपने इस लेख में बताने जा रहे हैं कि फेफड़ों (लंग्स) को स्वस्थ या मजबूत रखने के उपाय (Tips), व्यायाम, घरेलू उपाय और योगासन.

दुनिया में जितनी भी सजीव चीजें हैं उनका जीवनव्यापन उनकी सांसें होती है. मनुष्य के शरीर में सांस लेने की प्रक्रिया फेफड़ों के द्वारा ही होती है.

यदि हमारे फेफड़े (Lungs) स्वस्थ नहीं होंगे तो इनसे हमें कई बीमारियां हो सकती हैं जैसे कि अस्थमा, फेफड़ों का कैंसर, निमोनिया, ब्रोंकाइटिस और टीबी.


    फेफड़ों के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां | Information about lungs in hindi

    • मानव शरीर में प्रत्येक फेफड़ों का वजन लगभग 650 ग्राम होता है.
    • दोनों फेफड़ों में वायु नलिकाओ की कुल लंबाई लगभग 2400 किलोमीटर होती है.
    • फेफड़ों के अंदर स्वसन तंत्र की संरचना पेड़ की शाखाओं की तरह होती है.
    • मनुष्य शरीर के बाएं फेफड़े में 3 भाग होते हैं जबकि दाएं फेफड़े में सिर्फ दो भाग उपस्थित होते हैं. 
    • मनुष्य शरीर के अंदर दाया फेफड़ा, बाएं फेफड़े से अधिक चौड़ा होता है.
    • फेफड़े हमारे शरीर में खून और कोशिकाओं तक ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करते हैं.
    • जब हम एक बार सांस लेते हैं तो फेफड़ों में लगभग 6 लीटर वायु अंदर जाती है. इस तरह एक व्यक्ति के फेफड़े प्रत्येक दिन लगभग 2000 घन मीटर वायु खींच लेते हैं.
    • सांस लेने और छोड़ने की दर पुरुषों की तुलना में बच्चों और स्त्रियों में ज्यादा अधिक होती है.
    • फेफड़ों की कार्य क्षमता को स्पायरोमेट्री टेस्ट के जरिए मापा जाता है.
    • फेफड़ों का मुख्य काम रक्त का शुद्धिकरण करना होता है.
    • एक मनुष्य आमतौर पर 1 मिनट में 8-10 बार सांस लेता है जबकि एक नवजात शिशु 1 मिनट में 40 बार सांस लेता है.

    फेफड़ों को स्वस्थ रखने के उपाय | healthy lungs in hindi

    यदि हम अपने फेफड़ों को स्वस्थ रखना चाहते हैं? हम चाहते हैं कि फेफड़ों से होने वाली बीमारियों से हम बचे रहें और हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत रहे, तो हमें अपनी जीवनशैली में कुछ बदलाव करने पड़ते हैं.

    जिससे हम अपने पूरे शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं तो आइए पढ़ते हैं.

    1. गाजर का सेवन करें | Eat carrots

    फेफड़ों (लंग्स) को स्वस्थ रखने के लिए हमें कुछ विटामिंस की जरूरत होती है जैसे कि विटामिन A, विटामिन C और कैरोटीन तत्व आदि.

    यदि हम नियमित रूप से गाजर का सेवन करते हैं तो इससे हमें विटामिंस की प्राप्ति होती है जिससे धीरे-धीरे हमारे फेफड़े साफ और स्वस्थ रहते हैं और हम फेफड़ों से संबंधित बीमारियां से भी बच सकते हैं.

    100gm गाजर के अंदर विटामिन A 16706 IU और विटामिन C 5.9 mg होता है, जो कि विटामिंस की एक अच्छी मात्रा है इसलिए हमें फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए गाजर का सेवन जरूर करना चाहिए.

    2. विटामिन C से भरपूर भोजन | Vitamin C rich food

    यदि हम अपने फेफड़ों को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो हमें विटामिन C से भरपूर आहार लेना चाहिए.

    क्योंकि विटामिन C एक तरह का एंटी-ऑक्सीडेंट होता है जो हमारे शरीर से विषैले तत्वों को बाहर निकालता है और हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है.

    जिससे हमारे शरीर को बाहरी संक्रमण से लड़ने में मदद मिलती है. हमें अपने आहार में पालक, संतरा, कीवी, अमरूद, केला, नींबू, गाजर, आंवला, अंगूर, टमाटर का जूस आदि फलों का सेवन करना चाहिए.

    जिससे हमारी बॉडी को पर्याप्त मात्रा में विटामिन C की प्राप्ति हो और हमारा शरीर अंदर से स्वस्थ रहे.

    फेफड़ों (लंग्स) को स्वस्थ रखने के लिए 9 अचूक उपाय और योगासन

    3. लहसुन का सेवन | Intake of garlic

    फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए हम लहसुन का भी उपयोग कर सकते हैं क्योंकि लहसुन हमारे शरीर में एक एंटीबायोटिक की तरह काम करता है. 

    लहसुन के अंदर एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटीफंगल, एंटी-इन्फ्लेमेटरी, विटामिन C, विटामिन A और भी कई अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं. 

    हर 100 ग्राम लहसुन के अंदर विटामिन C की मात्रा 31.2mg होती है. 

    सुबह खाली पेट लहसुन की एक या दो कली को बारीक काटकर हल्के गुनगुने पानी के साथ पीने से हमारे फेफड़े स्वस्थ होते हैं और हमारी इम्यूनिटी पावर भी बढ़ती है.

    4. अदरक का उपयोग | use of ginger

    फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए अदरक का भी उपयोग कर सकते हैं क्योंकि अदरक के अंदर एंटी-इन्फ्लेमेटरी, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं.

    जो हमारे शरीर से हानिकारक पदार्थ को बाहर निकालने में मदद करते हैं. अदरक के उपयोग से हमारे फेफड़ों के परिसंचरण मे सुधार होता है और हमारे फेफड़े स्वस्थ रहते हैं.


    5. ओमेगा 3 फैटी एसिड | Omega-3 Fatty Acid

    ओमेगा 3 फैटी एसिड का सेवन हमारे स्वास्थ्य के लिए और फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए भी आवश्यक होता है. 

    ओमेगा 3 के सेवन से हमारे शरीर की कोशिकाएं ठीक से काम करती हैं और हमारे शरीर में खून का जमना और अस्थमा जैसी बीमारियों में भी लाभ होता है.

    ओमेगा 3 फैटी एसिड हमें कई चीजों से प्राप्त होते हैं जैसे कि अखरोट, सूखे मेवे, सरसों के बीज, हरी सब्जियां, ब्रोकली स्ट्रॉबेरी, गाय का दूध, मूंगफली और अंडा आदि.

    6. प्रदूषण से बचें | Avoid pollution

    हर कोई अपनी जीवन शैली में व्यस्त है कोई घर पर रहकर काम करता है और कोई बाहर. जो लोग बाहर रहकर दिन भर अपने काम में व्यस्त रहते हैं उनको हमेशा आसपास के प्रदूषण से बचके रहना चाहिए. 

    क्योंकि प्रदूषण के अंदर अधिक मात्रा में हानिकारक तत्व या बैक्टीरियल होते हैं जो हमारे द्वारा सांस लेने पर शरीर के अंदर प्रवेश कर जाते हैं.

    और धीरे-धीरे हमारे फेफड़ों में जमा होने लगते हैं जिससे हमें कुछ समय बाद कई बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है.

    फेफड़ों (लंग्स) को स्वस्थ रखने के लिए 9 अचूक उपाय और योगासन

    7. धूम्रपान न करें | Do not smoke

    यदि हमें अपने फेफड़ों को स्वस्थ रखना है तो हमें धूम्रपान और तंबाकू के सेवन से बचना चाहिए. धूम्रपान करना हमारे फेफड़ों के लिए बहुत ही नुकसानदायक होता है.

    दुनिया में तंबाकू के सेवन से हर साल कई लाख लोगों की मृत्यु हो जाती है और हर साल यह मृत्यु दर का आंकड़ा बढ़ता ही जाता है.

    तंबाकू के सेवन से हमें फेफड़ों से संबंधित कैंसर जैसी बीमारियां तो होती ही हैं और साथ में निमोनिया, मधुमेह, अंधापन जैसे रोग भी हो सकते हैं.

    8. पौष्टिक आहार का सेवन करें | Eat nutritious food

    फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए हमें उन सभी पौष्टिक आहार का सेवन करना चाहिए जिसके अंदर एंटी-ऑक्सीडेंट तत्वों की मात्रा ज्यादा होती है.

    क्योंकि एंटी-ऑक्सीडेंट्स तत्व हमारे शरीर से विषैले तत्व बाहर निकालते हैं और हमारी बॉडी को डिटॉक्सिफाई करते है.

    हम अपने आहार में कुछ फल और सब्जियों का सेवन कर सकते हैं जैसे कि हरी सब्जियां, पालक, फूलगोभी, ब्रोकोली, प्याज, लहसुन, अंगूर, सेब, अंडा, स्ट्रॉबेरी, मछली, ग्रीन-टी, ब्लैक-टी आदि.

    9. अधिक पानी का सेवन करें | Drink more water

    फेफड़ों को साफ करने के लिए हमें अधिक मात्रा में पानी पीना चाहिए क्योंकि शुद्ध पानी अपने आप में ही दवा का काम करता है.

    पानी के अंदर ही पर्याप्त मात्रा में मिनरल्स पाए जाते हैं जो हमारे फेफड़ों से निकोटिन पदार्थ को बाहर निकालते हैं और हमारी बॉडी को डिटॉक्सिफाई करते हैं.

    दिन भर में कम से कम 7 से 8 लीटर पानी पीने से हमें ऊर्जा भी मिलती है और हमारा तन-मन स्वस्थ रहता है.


    फेफड़ो के लिए लंग्स एक्सरसाइज | Lung exercises in hindi

    यदि हम अपने व्यस्त जीवन से थोड़ा सा समय निकाल कर व्यायाम करते हैं तो इससे हमारा शरीर फिजिकली फिट तो रहता ही है और हम कई बीमारियों से बचे रहते हैं.

    तो आइए जानते हैं, हम एक्सरसाइज के द्वारा फेफड़ों को कैसे स्वस्थ रख सकते हैं?

    1. गहरी सांस लेने की एक्सरसाइज | Deep breathing exercises

    यदि हम गहरी सांस लेने की एक्सरसाइज करते हैं तो इससे हमारे संपूर्ण शरीर को फायदा होता है. हमारे फेफड़े तो स्वस्थ होते ही हैं साथ में हमारा हृदय भी स्वस्थ रहता है.

    गहरी सांस (breathing exercises) लेने के और भी कई फायदे हैं, जैसे कि हमारा शरीफ डिटॉक्सिफाई होता है यानी कि हमारे शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकलते हैं.

    शरीर में ऑक्सीजन का स्तर पड़ता है, तनाव कम होता है, पाचन तंत्र दुरुस्त होता है, और हमारी श्वसन प्रणाली भी बेहतर होती है.

    2. कार्डियो व्यायाम | Cardio exercise

    यदि हम अपने व्यस्त जीवन में से 30 या 35 मिनट कार्डियो एक्सरसाइज करते हैं तो इससे हमारे संपूर्ण शरीर स्वस्थ रहता है. 

    कार्डियो एक्सरसाइज में आप जोगिंग, रनिंग, स्विमिंग, जैसी एक्सरसाइज अपना सकते हैं जो कि फेफड़ो के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है.

    कार्डियो व्यायाम करने से हमारी मांसपेशियां मजबूत होती हैं और हमारे शरीर को अंदर से तरोताजा ऊर्जा प्राप्त होती है और हम दिन भर अपने आप को ऊर्जावान महसूस करते हैं. 

    3. स्विमिंग | Swimming

    स्विमिंग करना फेफड़ों के लिए एक बहुत ही अच्छी एक्सरसाइज मानी जाती है. जब हम पानी के अंदर स्विमिंग करते हैं तो हमें अपनी सांस को रोकना पड़ता है जिससे हमारे फेफड़ों की कार्य क्षमता बढ़ती है और यह मजबूत होते हैं.

    स्विमिंग करने से हमें और भी कई फायदे होते हैं जैसे कि वजन कम करने में, स्टेमिना बढ़ाने, फिजिकली फिट रहने में, मांसपेशियां मजबूत करने और तनाव दूर करने में आदि.

    4. बेबी पुश-अप | Baby push-ups

    नियमित रूप से पुशअप्स करने से हमारे शरीर की फिजिकल एक्टिविटी बढ़ती है और साथ में हम कई बीमारियों से भी बचे रहते हैं.

    फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए पुश-अप्स एक बहुत ही अच्छी एक्सरसाइज है जिससे हमारे फेफड़ों की मांसपेशियों पर दबाव पड़ता है, हमारे फेफड़ों की कार्य क्षमता बढ़ती है और फेफड़ों से संबंधित होने वाली बीमारियों का भी खतरा कम रहता है.

    फेफड़ों (लंग्स) को स्वस्थ रखने के लिए 9 अचूक उपाय और योगासन

    फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए घरेलू उपाय | Home remedies to keep lungs healthy

    यदि हम अपने जीवन में इतने व्यस्त हैं कि हमारे पास व्यायाम करने का समय नहीं है तो हम कुछ घरेलू उपाय का उपयोग करके अपने फेफड़ों को स्वस्थ रख सकते हैं तो आइए पढ़ते हैं.

    ग्रीन टी - ग्रीन टी का सेवन फेफड़ों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है क्योंकि ग्रीन टी के अंदर पर्याप्त मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो हमारे फेफड़े और शरीर को डिटॉक्सिफाई करते हैं.

    गाजर - गाजर का जूस हमारे फेफड़ों के लिए बहुत ही फायदेमंद है. हमें सुबह नाश्ते में या दोपहर में खाने के साथ 300 ml गाजर का जूस पीना चाहिए इससे हमारे फेफड़े अच्छी तरह से डिटॉक्सिफाई होते हैं.

    नींबू रस - यदि हम सुबह के समय एक गिलास पानी में नींबू डालकर नींबू पानी का सेवन करते हैं तो इससे हमारे फेफड़े साफ होते हैं. यदि सुबह हम अनानास या अनार का जूस पीते हैं तो यह भी हमारे फेफड़ों के लिए फायदेमंद होता है.

    अदरक की चाय - फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए हम अदरक की चाय का भी सेवन कर सकते हैं, क्योंकि अदरक के अंदर भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो हमारे फेफड़ों से विषाक्त पदार्थों को पसीने के द्वारा बाहर निकालते हैं और फेफड़ों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं.

    फेफड़ों को साफ करने की ड्रिंक - एक लीटर गर्म पानी में एक चम्मच सोंठ पाउडर, एक चम्मच हल्दी पाउडर और थोड़े से प्याज के छोटे-छोटे टुकड़े इस 1 लीटर पानी में मिला दें.

    इसे धीमी आंच पर जब तक पकाएं जब तक यह पानी आधा लीटर न रह जाए. बचे हुए आधा लीटर पानी को आप दो बार में पिए और दोनों के बीच में कम से कम 15 घंटे का गैप रखें.

    फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए योगासन | Yoga 

    यदि हम अपने व्यस्त जीवन में थोड़ा सा समय निकाल कर योगासन करते हैं, तो यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होता है. तो आइए जानते हैं कि हम अपने फेफड़ों को साफ करने के लिए कौन से योगासन कर सकते हैं.

    1. अनुलोम-विलोम प्राणायाम | Anulom-vilom pranayam

    अनुलोम-विलोम एक बहुत ही चमत्कारिक प्राणायाम है जिससे हमारे शरीर को कई फायदे होते हैं, जैसे कि

    A. यह हर तरह की चिंता को दूर रखने में मदद करता है, दिल में किसी भी तरह की रुकावट नहीं आने देता है,.

    B. फेफड़ों को साफ करने के लिए और सांस की किसी भी तरह की बीमारी के लिए या योगासन बहुत ही फायदेमंद है.

    2. त्रिकोणासन प्राणायाम | Trigonasana pranayam

    A. त्रिकोणासन करने पर हमारी सांस फेफड़ों तक आसानी से पहुंचती है.

    B. पैरों व जांघों की मांसपेशियां भी मजबूत होती है.

    C. यह आसन पैरों, घुटनों, और हाथों को मजबूती प्रदान करता है. 

    D. तनाव को कम करता है, शारीरिक और मानसिक शक्ति और स्थिरता भी बढ़ाने में मदद करता है.

    3. गोमुखासन प्राणायाम | Gomukhasana pranayam

    A. गोमुखासन प्राणायाम करने से यह सीने के रास्ते को सांस पास होने के लिए खोल देता है. 

    B. अस्थमा जैसी बीमारियों के लिए भी बहुत फायदेमंद है, क्योंकि इस आसन के करने से हमारे फेफड़े और श्वसन प्रणाली मजबूत होती है.

    C. थकावट दूर होने के साथ-साथ तनाव भी कम होता है और पीठ दर्द में भी बहुत आराम देता है. 

    4. भुजंगासन | Bhujangasana pranayam

    A. भुजंगासन प्राणायाम करने से अधिक से अधिक ऑक्सीजन शरीर में सूखने के लिए मददगार होता है.

    B. रीढ़ की हड्डियों में मजबूती और लचीलापन पड़ता है. 

    C. पाचन तंत्र, योन शक्ति भी बढ़ती है.

    D. फेफड़े, कंधे, सीने और पेट के निचले हिस्से को भी अच्छा खिंचाव मिलता है.

    सारांश | Summary in hindi

    फेफड़े हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है, सांस लेना और कार्बन डाइऑक्साइड छोड़ना हमारे फेफड़ों के द्वारा ही संभव होता है.

    हमने अपने इस लेख में जाना की फेफड़ों को स्वस्थ रखने के उपाय (Tips), फेफड़ों को साफ करने के लिए एक्सरसाइज और योगासन.

    अंत में मैं आपसे यही कहूंगा कि हमें अपने जीवन में ऐसी चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए जिससे हमारे शरीर को नुकसान हो और हमें आगे चलकर कई गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़े. धन्यवाद

    यह भी पढ़ें

    Share Post

    0 Comments: