किशमिश खाने के फायदे और नुकसान | Benefits, Nutrients and side effects of raisins in hindi

किशमिश खाने के फायदे और नुकसान | Benefits, Nutrients and side effects of raisins in hindi

अंगूर एक ऐसा फल है जिसे हर कोई खाना पसंद करता है. जब इन अंगूरों को दो-तीन हफ्ते तक सुखाया जाता है तो यह किशमिश का रूप ले लेते हैं,यानी कि सूखे हुए अंगूरों को ही हम किशमिश कहते हैं.

इस लेख में हम जानेंगे की किशमिश के खाने के क्या फायदे होते हैं, इसके पोषक तत्व (Nutrients), उपयोग, तासीर, खाने का सही तरीका और नुकसान.

किशमिश खाने में जितनी स्वादिष्ट होती है उससे कहीं ज्यादा वह हमारी सेहत (Health) के लिए फायदेमंद और कई बीमारियों को कम करने में मददगार होती है.

किशमिश के अंदर बहुत से ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो हमारे सेहत की प्रतिरोधक क्षमता (Immunity)को मजबूत या बढ़ाने के लिए बहुत जरूरी होते हैं.

किशमिश के अंदर ऊर्जा, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर, सोडियम, पोटेशियम, कैल्शियम, आयरन, विटामिन C, विटामिन K, विटामिन E आदि.

किशमिश का उपयोग हम अपनी रसोई में व्यंजनों का स्वाद बढ़ाने के लिए और सूखे मेवे की तरह लड्डुओं,मिठाइयों में और भी कई जगह हम इसका उपयोग करते हैं.

किशमिश का सेवन करने से हमारे स्वास्थ्य को कई फायदे होते हैं जैसे कि प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में, कैंसर, एसिडिटी, वजन को कम करने में, डायबिटीज और त्वचा आदि.

    किशमिश क्या है इससे जुड़ी हुई जानकारी | What is the information related to raisin in hindi?

    • किशमिश हमें सूखे हुए अंगूरों से प्राप्त होती है, बड़े आकार के अंगूरों को जब हम सुखा लेते हैं तो इसे मुनक्का कहा जाता है. 
    • किशमिश की तासीर गर्म होती है.
    • किशमिश तीन प्रकार की होती है, भूरी किशमिश, सुल्ताना (गोल्ड किशमिश) और करंट( काली किशमिश). 
    • अंगूर की खेती भारत में महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश राज्य में की जाती है, जिससे हमें अधिक मात्रा में किशमिश प्राप्त होती है.

    किशमिश के औषधीय फायदे | Benefits of raisins in hindi

    किशमिश खाने से हमारी सेहत को कई सारे लाभ होते हैं. हम किसमिस का ड्राई फ्रूट की तरह सेवन तो करते ही हैं, लेकिन इसका यदि हम घरेलू उपायों की तरह सेवन करते हैं तो इससे हमें कई फायदे होते हैं.

    आइए जानते हैं इन फायदों को विस्तार में.

    1. बढ़ाएं प्रतिरोधक क्षमता | Increase immunity


    किशमिश का नियमित सेवन करने से हम अपने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं. किशमिश के अंदर विटामिन C और ऊर्जा की मात्रा अधिक होती है जो हमारे शरीर को अंदरूनी शक्ति प्रदान करते हैं.

    बाहरी संक्रमण और छोटी-छोटी बीमारियों से बचने के लिए हमारे शरीर की इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत होना बहुत जरूरी है.

    किशमिश के अंदर विटामिन C एक एंटी-ऑक्सीडेंट की तरह हमारे शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकलता है और हमारी बॉडी को डिटॉक्सिफाई करता है.


    2. किशमिश के फायदे एनीमिया के लिए | Raisins benefits for anemia


    जब हमारे शरीर में खून की कमी होने लगती है तो हम एनीमिया जैसी बीमारियों के शिकार हो जाते हैं.

    खून की कमी को पूरा करने के लिए हम किशमिश का सेवन कर सकते हैं, यह एनीमिया जैसी बीमारियों से बचने के लिए रामबाण औषधि की तरह काम करती है.

    100gm किशमिश के अंदर आयरन की (1.88mg) मात्रा होती है जो हमारे शरीर के अंदर लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करती हैं और पूरे शरीर में ऑक्सीजन की सप्लाई करती है.

    3. पाचन तंत्र के लिए लाभ | Benefits for the digestive system


    आजकल की भागदौड़ की जिंदगी में समय की कमी के अभाव से हम अपनी सेहत पर सही तरह से ध्यान नहीं दे पाते हैं.

    जिसके कारण हमें कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं जैसे कि खट्टी डकार आना,कब्ज एसिडिटी, खाना सही रूप से ना पचना आदि.

    यदि हमारे शरीर का पाचन तंत्र सही है तो हम कई बीमारियों से बच सकते हैं, यह तो आपने सुना ही होगा कि जितनी भी बीमारियां होती हैं वह सब हमारे पेट से ही शुरू होती है.

    इन सारी समस्याओं को कम करने के लिए हम किशमिश का उपयोग कर सकते हैं क्योंकि किशमिश के अंदर डाइटरी फाइबर और एल्कलाइन तत्व होते हैं जो हमारे पेट से संबंधित कई बीमारियों को खत्म करते हैं.


    4. ऊर्जावान रहने के लिए | To be energetic


    यदि आप चाहते हैं कि आप दिन भर ऊर्जावान बने रहें आपको काम करने से थकान महसूस ना हो तो आपको किशमिश का सेवन जरूर करना चाहिए, क्योंकि किसमिस कार्बोहाइड्रेट और ऊर्जा का अच्छा स्रोत है.

    100g किशमिश के अंदर ऊर्जा (Energy) की मात्रा 299 कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट 79.18 ग्राम होता है. जो कि ऊर्जावान रहने के लिए काफी अच्छा स्त्रोत है इसलिए आप अपने आहार में किशमिश का सेवन जरूर करें.

    5. किशमिश के फायदे हड्डियों के लिए | Benefits of Raisins for Bones


    किशमिश के सेवन से हमारी सेहत को कई लाभ होते हैं उनमें से एक हमारी हड्डियों की मजबूती के लिए भी होता है.

    जैसा कि हम जानते हैं की हड्डियों की मजबूती के लिए हमें कैल्शियम और पोटेशियम तत्व की जरूरत होती है. जो कि किशमिश के अंदर अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं.

    100 ग्राम किशमिश के अंदर कैल्शियम 50mg और पोटेशियम 749mg होता है. बच्चों की हड्डी की मजबूती के लिए भी हम उन्हें किशमिश का सेवन करा सकते हैं.

    किशमिश खाने के फायदे और नुकसान | Benefits, Nutrients and side effects of raisins in hindi

    6. बुखार में फायदेमंद | Beneficial in fever


    किशमिश का सेवन हम बुखार में या किसी वायरस से संक्रमित हो जाने पर भी कर सकते हैं, क्योंकि किशमिश के अंदर एंटीबैक्टीरियल और एंटीइन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जो बैक्टीरिया हो खत्म करने में मदद करते हैं.

    7. किशमिश के फायदे त्वचा के लिए | The benefits of raisins for the skin


    किशमिश का फायदा यह भी है कि यह हमारी त्वचा की देखभाल करती है इसके सेवन से हमारे चेहरे पर होने वाली झुर्रियां, बढ़ती हुई उम्र, कील मुंहासे की शिकायत दूर होती है.

    किशमिश के अंदर एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो हमारे शरीर से विषैले तत्वों को बाहर निकालते है जिससे हमारा शरीर और त्वचा चमकदार होने लगती है.

    8. मधुमेह में फायदेमंद | Beneficial in diabetes


    डायबिटीज में भी हम किशमिश का सेवन कर सकते हैं क्योंकि इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है.

    कई अध्ययनों यह ज्ञात हुआ है कि किशमिश के सेवन से हमारे शरीर में इंसुलिन की मात्रा बढ़ती या कम नहीं होती है नियंत्रण बनी रहती है.

    किसी भी खाद्य पदार्थ का अपना एक ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है जो पदार्थ का मापक होता है.

    जिन खाद्य पदार्थों का ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है, डायबिटीज के मरीज उन पदार्थों का सेवन कर सकते हैं लेकिन एक बार सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

    9. दांतो के लिए लाभदायक | Beneficial for teeth


    दांतों के रोगो के लिए किशमिश का सेवन फायदेमंद होता है. संयुक्त राज्य अमेरिका के डिपार्टमेंट ऑफ फ़ूड एंड न्युट्रिशन रिपोर्ट से यह ज्ञात हुआ है कि किशमिश का सेवन कैविटीज और दातों बीमारियों के लिए फायदेमंद होता है.
                                                                                                                                                            किशमिश के अंदर पाए जाने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट गुण और फाइटोकेमिकल तत्व बैक्टीरिया को खत्म करते हैं और इनसे हमारे दांतो की रक्षा करते हैं.


    10. बालों के लिए उपयोगी | Useful for hair


    बालों की देखभाल के लिए जैसे कि समय से पहले सफेद होना, बालों का झड़ना इन समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए भी हम किशमिश का सेवन कर सकते हैं.

    क्योंकि इसके अंदर एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन B, पोटेशियम गुण पाए जाते हैं जो फ्री रेडिकल्स के प्रभाव को कम करते हैं और हमारे बालों की देखभाल करते हैं.

    11. वजन नियंत्रण करने के लिए | To control weight


    किशमिश के सेवन से हम अपने वजन को भी नियंत्रण में रख सकते हैं.100 ग्राम किशमिश के अंदर 3.7 ग्राम डाइटरी फाइबर होता है.

    एनसीबीआई द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट में किशमिश के अंदर पाए जाने वाले डाइटरी फाइबर तत्व हमारे खाने को सही से पचाने में, पेट की समस्याओं को खत्म करने में और हमारे वजन को नियंत्रण रखने में मदद करते हैं.



    किशमिश खाने के फायदे और नुकसान | Benefits, Nutrients and side effects of raisins in hindi

    किशमिश के उपाय | Raisin Remedy in hindi

    यदि हम किशमिश का घरेलू नुस्खों की तरह उपयोग करते हैं तो हमारी सेहत को कई लाभ होते हैं आइए जानते हैं किशमिश के पानी पीने से या इसके उपयोग के बारे में.

    1. हर रोज किशमिश का पानी पीने से हमारे हृदय का कोलेस्ट्रॉल लेवल नियंत्रण रहता है और हमारा हृदय भी स्वस्थ रहता है.

    2. 8-10 किशमिश रात को पानी में भिगो दें और इस पानी को हर रोज सुबह पीने से आपके चेहरे पर आई हुई झुर्रियां हट जाएंगी और आपकी त्वचा जवां रहेगी.

    3. हर रोज किशमिश का पानी पीने से आपका लीवर भी स्वस्थ रहेगा और आपका मेटाबॉलिज्म स्तर नियंत्रण रहेगा.

    4. 32-40gm काली किशमिश को रात में ठंडे पानी में भिगो दें और सुबह खाली पेट यह पानी पिए. इसके पीने से आपके पेट में होने वाली गैस और कब्ज से छुटकारा मिलेगा.

    5. काली किशमिश का पानी पीने से पेशाब में होने वाली जलन और पथरी में भी लाभकारी होता है.

    6. किशमिश और शहद एक साथ चाटने से खांसी में फायदा होता है.

    7. 20 ग्राम सौंफ व 20 ग्राम किसमिस और 10 ग्राम चीनी मिलाकर थोड़े दिनों तक सेवन करने से खट्टी डकार, पेट में जलन होना, उल्टी और पेट की कई बीमारियों में फायदा होता है.

    8. लगभग 10 ग्राम किशमिश को रात में पानी में भिगो दें और सुबह के समय उस पानी को पीने से आंखों की गर्मी और जलन में लाभ पहुंचता है.

    9. 20 ग्राम किसमिस गाय की दूध में उबालकर रात में सोने के पहले पीने से सिर की गर्मी निकल जाती है.

    10. बार-बार पेशाब जाने की बीमारी में 100gm अंगूर रोज खाने से आराम मिलता है.

    11. 20 ग्राम किशमिश खाकर ऊपर से दूध पीने के बाद ,मल अच्छे से साफ होता है कमजोरी दूर होती है और शरीर में ताकत पैदा होती है.

    किशमिश की तासीर | Raisin show in hindi

    बहुत से लोगों को यह कन्फ्यूजन होता है की किशमिश की तासीर ठंडी होती है या गर्म.

    तो हम आपको यह बता दें कि किशमिश की तासीर गर्म होती है इसलिए हमें इसका अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए और सही तरीके से हमें इसका सेवन करना चाहिए.

    किशमिश खाने का सही तरीका | Right way to eat raisins in hindi

    किशमिश खाने का सही तरीका यह है की 8 से 10 किशमिश रात को पानी में  भिगोकर रख दें, सुबह उस पानी को पी लें और किशमिश को खा ले.

    किशमिश भिगोकर खाने से हमारी सेहत को ज्यादा फायदे होते हैं. किशमिश को भिगोकर खाने से इसमें पाए जाने वाले सभी पोषक तत्व अच्छे से हमारी सेहत को प्राप्त हो जाते हैं.

    किशमिश के पोषक तत्व की मात्रा – (Raisins Nutrient Value Per 100 g in hindi)

    According to the USDA National Nutrients Database

    पोषक तत्व (Nutrients) मात्रा (The quantity) अनुशंसित आहार भत्ता (Recommended Dieatry Allowance - The estimated amount of a nutrient per day for good health)
    ऊर्जा (Energy) 299 Kcal 15 %
    कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates) 79.18 g 61 %
    प्रोटीन (Protein) 3.07 g 5.5 %
    टोटल फैट (Total fat) 0.46 g 1.5 %
    कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) 0 mg 0 %
    फाइबर (Dietary Fiber) 3.7 g 10 %
    फोलटेस (Folates) 5 µg 1 %
    नियासिन (Niacin) 0.766 mg 5 %
    पैंटोथैनिक एसिड (pantothenic acid) 0.095 mg 2 %
    पाइरिडोक्सिन (pyridoxine) 0.0174 mg 13 %
    राइबोफ्लेविन (Riboflavin) 0.125 mg 10 %
    थायमिन (Thiamin) 0.106 mg 9 %
    विटामिन (Vitamin A) 0 IU 0 %
    विटामिन (Vitamin C) 2.3 mg 4 %
    विटामिन (Vitamin E) 0.12 mg 1 %
    विटामिन (Vitamin k) 3.5 µg 3 %
    सोडियम (Sodium) 11 mg 1 %
    पोटेशियम (Potassium) 749 mg 16 %
    आयरन (Iron) 1.88 mg 23 %
    मैग्नीशियम (Megnesium) 7 mg 2 %
    मैग्नीज (Manganese) 0.299 mg 12 %
    जिंक (Zinc) 0.22 mg 2 %
    कैल्शियम (Calcium) 50 mg 5 %

    किशमिश से होने वाले नुकसान | Raisin side effects

    हर चीज के अपने फायदे होते हैं और नुकसान भी, यदि हम किसी भी चीज का सही मात्रा में सेवन करते हैं तो हम उस चीज से होने वाले नुकसान से बच सकते हैं.

    आइए जानते हैं किशमिश से हमारी सेहत को क्या नुकसान हो सकते हैं?

    1. किशमिश का अधिक मात्रा में सेवन करने से यह हमारे वजन को बढ़ा सकता है, क्योंकि अधिक मात्रा में सेवन करने से कैलोरी की मात्रा बढ़ जाती है और हमारे शरीर पर अनावश्यक चर्बी बढ़ने लगती है.

    2. किशमिश में पोषक तत्वों की मात्रा अधिक होने से हमें हृदय रोग, फैटी लीवर, मधुमेह जैसी बीमारियों के विकास की संभावना बढ़ जाती है.

    3. किशमिश का अधिक मात्रा में सेवन करने से हमें एलर्जी की समस्या भी हो सकती है.

    पूछे जाने वाले प्रशन | FAQs


    Q1 - किशमिश खाने का सही तरीका क्या है?
    A - रात में कुछ 8-10 किशमिश को पानी में भिगोकर रख दें और सुबह के समय खाली पेट पानी को पी लें और किशमिश को खा लें.

    Q2 - किशमिश खाने के क्या फायदे होते हैं?
    A - किशमिश खाने से हमारी सेहत को बहुत फायदे होते हैं जैसे कि प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में, खून की कमी पूरा करने के लिए, पाचन तंत्र, ऊर्जावान, हड्डियों की मजबूती के लिए, बुखार, सुंदर त्वचा के लिए, डायबिटीज और बालों के लिए आदि.

    Q3 - किशमिश की तासीर कैसी होती है?
    A - किशमिश की तासीर गर्म होती है.

    Q4 - किशमिश के अंदर कौन से विटामिन पाये जाते है?
    A - किशमिश के अंदर कई विटामिन पाए जाते हैं जैसे कि ऊर्जा, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर, सोडियम, पोटेशियम, कैल्शियम, आयरन, विटामिन C, विटामिन K और विटामिन E आदि.

    परामर्श | Consultation in hindi

    इस पूरी पोस्ट को पढ़कर हमें यही निष्कर्ष मिलता है कि हमें अपने आहार में किशमिश को जरूर शामिल करना चाहिए, क्योंकि किशमिश जितना हमारे व्यंजनों का स्वाद बढ़ाती है उससे ज्यादा कहीं हमारी सेहत को लाभ पहुंचाती है.

    हमने इस लेख में जाना की किशमिश के क्या पोषक तत्व होते हैं इसकी मात्रा के बारे में, नुकसान, उपाय, तासीर, खाने का सही तरीका क्या है?

    किशमिश का सेवन करने से हम अपनी सेहत का ध्यान रख सकते हैं और कई छोटी-छोटी बीमारियों से बच सकते हैं.

    बस यह हमें ध्यान रखना है कि हमें किशमिश का अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना है क्योंकि इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से हमें नुकसान भी हो सकता है धन्यवाद.

    यह जरूर पड़े..


    Share Post

    1 comment:

    1. मेरी दादी के उम्र 80 साल है क्या उनको हम क्रिशमिश दे सकते है। क्या इस उम्र मे उनको क्रिशमिश पच जाहेगा क्या उनको भीगा हुआ क्रिशमिश गर्म नहीं करेगा

      ReplyDelete