April 7, 2020

अजवाइन के सेहतमंद 14 फायदे, घरेलू उपाय, पोषक तत्व और नुकसान - Carom seeds Home Remedy, Nutrients and side effects in hindi

अजवाइन के सेहतमंद 14 फायदे, घरेलू उपाय, पोषक तत्व और नुकसान

हम अपने इस लेख में अजवाइन (carom seeds) के चमत्कारी सेहतमंद फायदों के बारे में, अजवाइन के घरेलू उपायों के बारे में, इसके पोषक तत्व (Nutrients) और इससे होने वाले नुकसान के बारे बताने जा रहे हैं.


यह तो सभी लोग ही जानते हैं की अजवाइन (ajwain) सभी घरों में सब्जियां, अचार, बिस्कुट, ब्रेड, सूप में प्रयोग की जाती है.लेकिन अजवाइन का उपयोग औषधि की तरह बहुत से आयुर्वेदिक चूर्ण में और दवाइयों में उपयोग की जाती है

अजवाइन के नियमित सेवन से हम अपने शरीर की कई छोटी-छोटी बीमारियों को ठीक कर सकते हैं जैसे कि स्त्रियों में मासिक धर्म की समस्या, डायबिटीज, पेट में ऐठन होना, गैस बनना, त्वचा के लिए, कान दर्द के लिए, कब्ज, दिल की बीमारियों के लिए, अस्थमा, गठिया रोगों के लिए आदि.


इन सब बीमारियों में अजवाइन का सेवन बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है. हम अजवाइन का उपयोग अपने घरों में मसालों के रूप में तो करते ही हैं लेकिन प्राचीन समय से अजवाइन को हमारे आयुर्वेदिक चिकित्सक एक औषधि के रूप में भी प्रयोग करते आ रहे हैं.

अजवाइन के अंदर बहुत से ऐसे स्वास्थ्यवर्धक पोषक तत्व होते हैं जो हमारी सेहत के लिए बहुत जरूरी है जैसे कि विटामिन, ऊर्जा, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेटऔर भी बहुत से पोषक तत्व अजवाइन के अंदर अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं जो कि हम अपने इस लेख में आगे टेबल के रूप में बताएंगे. आइए जानते हैं अजवाइन से जुड़ी हुई कुछ रोचक जानकारियों के बारे में.




    अजवाइन से जुड़ी हुई रोचक जानकारी – (Some information related to carom seeds in hindi)


    • अजवाइन की तासीर गर्म, पाचक और खुष्क प्रकृति की होती है.
    • अजवाइन के बारे में कहा जाता है की यह 100 प्रकार के अन्न को पचाने की शक्ति रखती है.
    • अजवाइन तीन प्रकार की होती है अजवाइन, जंगली अजवाइन, खुरासानी अजवाइन.
    • अजवाइन को अलग-अलग देशों में अलग-अलग नामों से जाना जाता है जैसे कि इंग्लिश में-(carom seeds) , तमिल में-( ओमुम), तेलुगु में-( ओमान), मराठी में-( अजमा), उर्दू में-( अजवाइन), संस्कृत में-( ब्रह्माद्रभा, यावनी), गुजराती में-( अजमो), बंगाली में-( यमानी).
    • भारत में अजवाइन की खेती राजस्थान, पंजाब, गुजरात, उत्तर प्रदेश और बाहर के देशों में अफगानिस्तान, मिस्र, ईरान में होती है.
    • अजवाइन धनिया कुल का पौधा है.
    • इसका वानस्पतिक नाम – टेकिस्पर्मम एम्मी है.

    अजवाइन के स्वास्थ्यवर्धक और उपयोगी फायदे- (Healthy and useful benefits of carom seeds in hindi) 

    अजवाइन अपने आप में ही एक प्राकृतिक औषधि है जो कि हमारे आयुर्वेदिक वैध प्राचीन समय से ही औषधियों को बनाने के लिए प्रयोग करते आ रहे हैं क्योंकि अजवाइन के हमारे स्वास्थ्य के लिए थोड़े नहीं बहुत फायदे होते हैं. आइए जानते हैं अजवाइन के सेहतमंद फायदों के बारे में विस्तार से.

    1- अपच, एसिडिटी और पेट के लिए फायदेमंद – (Indigestion, acidity and beneficial to the stomach in hindi)


    आज के समय में हर किसी की जिंदगी इतनी व्यस्त है कि कोई भी अपनी सेहत पर ठीक से ध्यान नहीं दे पाता है और उसके खाने की जीने की लाइफ स्टाइल बिल्कुल बदल जाती है.

    हमें अपनी सेहत अच्छी रखने के लिए किस तरह की पोषक तत्व, विटामिंस, खनिज तत्वों की जरूरत होती है हमें पता नहीं होता है और हमें जो भी मिलता है बस हम उसे खाते रहते हैं.

    आजकल लोग फास्ट फूड का, ज्यादा ऑइली, चटपटी चीजें खाते हैं जिससे धीरे-धीरे हमारे पेट में पाचन क्रिया संबंधित समस्याएं, एसिडिटी, अपच होने लगती है.

    इन समस्याओं को खत्म करने के लिए यदि हम नियमित रूप से अजवाइन का सेवन करते हैं तो यह हमारे लिए रामबाण औषधि की तरह साबित होती है.

    क्योंकि अजवाइन के अंदर रेचक, थाइमोल की मात्रा होती है जो कि हमारे पेट से संबंधित होने वाली बीमारियों के लिए लाभदायक होता है.

    2- स्वस्थ हृदय के लिए – (For healthy heart in hindi) 


    यदि हमारे शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक हो जाती है तो हमें दिल से संबंधित बीमारियां जैसे हार्टअटैक, हाइपरटेंशन, दिल का दौरा आदि बीमारियां होने लगती है.

    अजवाइन के अंदर ऐसे गुण पाए जाते हैं जो हमारे शरीर से खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करते हैं और साथ ही में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को नियंत्रण भी करते हैं. इसलिए अजवाइन का सेवन हमारे दिल को स्वस्थ रखने के लिए भी फायदेमंद है.

    3- वजन या मोटापा घटाने के लिए रामबाण औषधि – (To reduce weight or obesity in hindi)


    गलत खानपान और सेहत का ध्यान ना रखने की वजह से या शारीरिक व्यायाम न करने की वजह से धीरे-धीरे हमारे शरीर के ऊपर चर्बी बढ़ने लगती है और हमारा मेटाबॉलिज्म कम होने लगता है.

    जिससे हम बहुत ही गंदे और भद्दे दिखने लगते हैं,ना ही हम मानसिक और शारीरिक रूप से फिट रहते हैं.

    यदि आप अपनी चर्बी घटाने के लिए ज्यादा व्यायाम, जिम या शारीरिक मेहनत नहीं कर सकते हैं तो आपके लिए अजवाइन का सेवन बहुत ही फायदेमंद होगा.

    क्योंकि अजवाइन के सेवन से हमारे शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ने लगता है जिससे हमारे शरीर पर चढ़ी हुई चर्बी कम होने लगती है.


    4- अस्थमा – (Asthma in hindi)


    अजवाइन का सेवन अस्थमा जैसी गंभीर बीमारियों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है. अस्थमा की बीमारी में हमें हमारी श्वास नली में सूजन आ जाती है जिस वजह से हमें सांस लेने में तकलीफ होती है.

    बढ़ते हुए प्रदूषण और गलत लाइफस्टाइल की वजह से यह समस्याएं भी हमें देखने को मिलती है. अजवाइन के अंदर एंटीस्पैमोडिक और कार्मिनेटिव गुण होते हैं जो अस्थमा जैसी गंभीर बीमारियों में हमें काफी राहत पहुंचाते हैं.

    5- सर्दी, खांसी, जुकाम में फायदेमंद – (Cold, cough beneficial in hindi)


    जब हमारे शरीर की अंदरूनी ताकत यानी कि प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत नहीं होती है तो हमें बहुत सी छोटी-छोटी बीमारियां जल्दी से अपनी पकड़ में ले लेती है. जैसे कि सर्दी, खांसी, जुखाम, उल्टी, दस्त इसलिए यदि आप अजवाइन का सेवन करते हैं.

    तो यह हमें जुखाम, सर्दी, फ्लू, वायरल इनफेक्शन इन सब से बचाती है और हमारी अंदरूनी शक्ति को भी ताकत देती है. बहुत से आयुर्वेदिक चिकित्सक पुरानी से पुरानी खांसी, जुखाम को सही करने के लिए अजवाइन के सेवन की सलाह देते हैं.

    6- गठिया रोग – (Arthritis in hindi)


    बढ़ती उम्र के साथ हमारे पैरों के जोड़ों में दर्द होना गठिया रोग जैसी समस्याएं होने लगती हैं. ऐसे में यदि हम अजवाइन के तेल की मालिश अपने जोड़ों के दर्द में करते हैं तो हमें दर्द से काफी राहत मिलती है. अजवाइन एक नहीं कई औषधियों के रूप में काम करती है.

    बाजार में बहुत सी ऐसी दवाइयां, आयुर्वेदिक दवाइयां, चूरन, तेल मिलते हैं जिनके अंदर अजवाइन का मिश्रण होता है.

    7- पाचन क्रिया की मजबूती के लिए- (To strengthen digestion in hindi)


    आज के समय में अधिकतर लोग अपने गलत लाइफस्टाइल जीने की वजह से कई बीमारियों के खतरे में आ जाते हैं.

    जैसे की पाचन क्रिया यदि हमारी पाचन क्रिया सही नहीं है तो हमें एसिडिटी, कब्ज, खट्टी डकार आना यह सब परेशानियां तो होती ही है साथ में हम अपने आप को अंदर से स्वस्थ और हल्का महसूस नहीं कर पाते हैं.

    क्योंकि जब तक कि हमारा पेट सही से साफ ना हो हमारा मन किसी भी काम में लगता नहीं है. वह कहते हैं ना कि हर बीमारी की जड़ हमारा पेट ही होता है.

    अजवाइन के बहुत से ऐसे घरेलू उपाय होते हैं जिनके उपयोग से हम अपने पेट का डाइजेशन सिस्टम बिल्कुल दुरुस्त कर सकते हैं.

    आगे हम इनके घरेलू उपायों के बारे में चर्चा करेंगे. आपने देखा होगा कि बहुत से मार्केट में चूर्ण, टेबलेट आती है जिसमें अजवाइन का मिश्रण जरूर होता है.
    अजवाइन के सेहतमंद 14 फायदे, घरेलू उपाय, पोषक तत्व और नुकसान
    अजवाइन के बेहतरीन 14 सेहतमंद फायदे (healthy benefits of carom seeds)

    8- मासिक धर्म – (Menstrual in hindi)


    महिला के अंदर होने वाले मासिक धर्म या पीरियड में होने वाले दर्द, कमजोरी और पीरियड की अनियमितता की शिकायत को दूर करने के लिए अजवाइन बहुत ही लाभकारी है.

    जो महिलाएं गर्भवती होती हैं उनके लिए भी अजवाइन का सेवन करना बहुत ही फायदेमंद होता है. मासिक धर्म के दौरान कैसे अजवाइन का सेवन करना है वह हम आगे चर्चा करेंगे.


    9- कान दर्द और दांत दर्द में दे राहत – (Ear pain and relieve toothache in hindi)

    अजवाइन के अंदर एंटी- ऑक्सीडेंट, एंटी- बैक्टीरियल, एंटी- वायरल गुण पाए जाते हैं जो किसी भी दर्द में राहत दिलाने के लिए मदद करते हैं. दांत में दर्द होने पर और कान में दर्द होने पर आप अजवाइन के तेल का उपयोग कर सकते हैं.

    जिस तरह लॉन्ग का तेल फायदेमंद होता है उसी तरह अजवाइन का तेल भी दर्द में काफी राहत पहुंचाता है. और मुंह में आने वाली दुर्गंध की भी समस्या कम होती है.

    10- स्तनपान में फायदेमंद – (Beneficial in breastfeeding in hindi)


    अजवाइन के पानी का सेवन गर्भवती महिलाओं के लिए और स्तनपान के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है. अजवाइन के सेवन से यह महिलाओं के गर्भाशय की सफाई करती है और स्तनपान के लिए दूध बढ़ाने में मदद करती है.

    11- त्वचा के लिए लाभकारी – (Beneficial for the skin in hindi)


    आज के समय में हर कोई एक दूसरे से सुंदर दिखना चाहता है भीड़ में एकदम अलग दिखना चाहता है. अपनी त्वचा को निखारने के लिए और त्वचा संबंधित समस्याओं को दूर करने के लिए अजवाइन एक प्राकृतिक औषधि के रूप में आप उपयोग कर सकते हैं.

    इससे हमारी त्वचा को बहुत सारे लाभ होते हैं जैसे कि फोड़े फुंसी और एग्जिमा की समस्या नहीं होती है. हमारे चेहरे पर कील-मुंहासे होने लगते हैं, जिनकी वजह से हमारे चेहरे पर कुछ निशान आ जाते हैं.

     उन्हें भी दूर करने के लिए, झुर्रियों के लिए, ऑयली स्किन के लिए भी अजवाइन का सेवन फायदेमंद होता है.

    अजवाइन के अंदर आयरन, मैग्नीशियम, सोडियम, की मात्रा होती है जो ऑयली स्किन के लिए फायदेमंद होते हैं. अजवाइन के अंदर विटामिन A, विटामिन C पाए जाते हैं जो हमारी त्वचा के लिए जरूरी होते हैं.


    12- बालों के लिए – (For hair in hindi)


    अजवाइन हमारे बालों के लिए भी बहुत फायदेमंद साबित होती है जैसे कि हमारे बालों के अंदर खुजली और जूं हो जाती हैं तो हम अजवाइन के घरेलू उपयोग से बालों में होने वाली खुजली और जूं से बच सकते हैं.

    हमारे बाल समय से पहले ही सफेद होने लगते हैं इसके लिए भी अजवाइन का घरेलू उपयोग करके हम अपने बालों का असमय सफेद होना रोक सकते हैं. अजवाइन त्वचा और बालों दोनों के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है.


    13- घाव के लिए अजवाइन लाभदायक – (Carom seeds beneficial to wound in hindi)


    जब कभी हमें घाव या चोट लग जाती हैं तो हम अपने घाव पर अजवाइन का इस्तेमाल कर सकते हैं. अजवाइन को कूटकर उसका घाव के ऊपर लेप लगा सकते हैं क्योंकि अजवाइन के अंदर एंटीसेप्टिक, थाइमोल जैसे तत्व पाए जाते हैं जो हमारी घाव या चोट को सही करने के लिए फायदेमंद साबित होते हैं.

    14- प्रतिरक्षा क्षमता बढ़ाने के लिए – (To increase immunity in hindi)


    यदि आपके शरीर की प्रतिरक्षा क्षमता (immunity) मजबूत है तो आप बहुत सी बीमारियों से बचे रहेंगे कोई भी इन्फेक्शन या जैसे सर्दी, खांसी, जुखाम, बुखार छोटी-छोटी मौसमी बीमारियां हमें जल्दी नहीं हो पाती है.

    अजवाइन के नियमित सेवन से हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है क्योंकि अजवाइन के अंदर कैल्शियम, सोडियम, थायमिन, आयरन, विटामिन इन सब की अच्छी मात्रा होती है.

    जोकि शरीर की अंदरुनी मजबूती को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होते हैं. खासकर बुजुर्गों और बच्चों में रोग-प्रतिरोधक क्षमता कम होती है तो यदि हम उन्हें अजवाइन का सेवन कराते हैं तो यह उनके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है.

    अजवाइन के सेहतमंद 14 फायदे, घरेलू उपाय, पोषक तत्व और नुकसान

    अजवाइन के सेहतमंद घरेलू उपाय – (Healthy home remedies for carom seeds in hindi) 

    अब हम आपको अजवाइन के घरेलू उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं कि हम कैसे अजवाइन का किसी दूसरे चीजों के साथ मिलाकर हम अपने आपको सेहतमंद और हर बीमारी से कैसे दूर रख सकते हैं आइए जानते हैं.

    1- यदि आप शराब पीना छोड़ना चाहते हैं तो आप आधा किलो अजवायन पीसकर 7 लीटर पानी में 2 दिन भिगोए रखें फिर धीमी आंच पर इतना उबालें कि 2 किलो पानी ही बचे फिर ठंडा करके उस पानी को छानकर बोतल में भर लें. 5-5 चम्मच रोज दो बार जब भी शराब पीने की इच्छा हो तभी पिये शराब पीने की आदत भी छूट जाएगी, पेट भी साफ रहेगा, और भूख भी लगेगी.

    2- एक चम्मच अजवाइन और चौथाई चम्मच काली मिर्च दोनों पीसकर, गर्म पानी से सुबह-सुबह फंकी लेने से दमा में राहत मिलती है.

    3- एक चम्मच पिसी हुई अजवाइन की फंकी गर्म पानी के साथ लेने से भूख खुलकर लगती है और हमारी पाचन क्रिया भी दुरुस्त होती है.

    4- चेहरे पर होने वाले मुहांसों को सही करने के लिए अजवाइन को पीस लें इसकी 4 चम्मच और 2 चम्मच दही मिलाकर 1 घंटे भीगने के बाद चेहरे पर लगाएं, 2 घंटे बाद गर्म पानी से चेहरे को धो लें इससे आपके मुंहासे मिट जाएंगे.

    5- डायरिया जैसी बीमारियों के लिए एक गिलास पानी में अजवाइन डालकर उबालें फिर इस पानी को ठंडा करने के बाद दिन में दो बार पिये इससे आपको काफी राहत मिलेगी.

    6- दांत में दर्द होने पर अजवाइन के तेल से भीगे हुए रुई के फाहे को जहां आपके मुंह में दांत में दर्द हो रहा है वहां लगाने से और मुख नीचे करके लार को टपकाने से दांत का दर्द खत्म होता है यह ध्यान रखें कि लार को अपने मुंह के अंदर ना जाने दे.

    7- महिलाओं में स्तनपान को बढ़ाने के लिए आप 1 चम्मच सौंफ और आधा चम्मच अजवाइन 1 लीटर पानी में डालकर उबालें और उबालने के बाद इस पानी को छानकर एक बोतल में भर लें फिर इस पानी को आप रोजाना पिये.

    8- यदि आपको पथरी की शिकायत है तो आप थोड़ी सी अजवाइन की फंकी लेकर ऊपर से ताजा पानी पीने से कुछ दिनों में मूत्राशय के द्वारा पथरी गल कर निकल जाती है.

    9- पुरुषों में यौन शक्ति को बढ़ाने के लिए अजवाइन को सफेद प्याज के रस में 3 बार भिगोकर सुखा कर ले. 10 ग्राम इस अजवाइन में 10 ग्राम घी और दोगुनी यानी कि 20 ग्राम चीनी मिलाकर इसे अपनी एक खुराक माने . लगभग 1 सप्ताह तक यही खुराक लेने से पुरुषों में यौन शक्ति बढ़ती है.

    10- मोटापा घटाने के लिए या अपने शरीर से चर्बी को कम करने के लिए रोजाना रात में सोते समय और सुबह खाली पेट 3 चम्मच पिसी हुई अजवाइन की फंकी लेने से मोटापा धीरे-धीरे कम होता है.

    11- अजवाइन पीसकर सुबह - रात को सोते समय पानी से आधा चम्मच फंकी ले यदि आपको किसी कारण से नींद नहीं आ रही है तो यह इससे आपको नींद आने लगेगी.

    12-एक गिलास पानी में एक चम्मच करी पत्ता, सूखे अंगूर, चीनी, और अजवाइन के बीज डालकर काढ़ा बनाएं और हर दिन यह काढ़ा एक गिलास पीने से हमारे असमय बालों का सफेद होना धीरे-धीरे रुकने लगता है.

    13- एक चम्मच अजवाइन को चबाये, चबाने के बाद ऊपर से एक गिलास गर्म पानी पी ले इससे आपको होने वाली खांसी कम होने लगती है.

    14- 5 ग्राम अजवाइन में काला नमक मिलाकर गर्म पानी के साथ लेने से हमारे पेट के अंदर होने वाली गैस, बदहजमी निकल जाती है जिसके कारण खट्टी डकार आना, पेट से ऐठन, भारीपन, बेचैनी यह सब दूर हो जाती है.

    15- अजवाइन के तेल की 10 बूंद में शुद्ध सरसों के तेल की 30 बूंद मिलाए फिर इसे धीमी आंच पर गुनगुना करके कान में 4-5 बूंद डालें इससे कान में होने वाले दर्द में आपको जल्द राहत मिलेगी.

    16-सरसों के तेल को अजवाइन के बीजों के साथ मिलाएं और कार्डबोर्ड के टुकड़ों पर लगाएं जिसे आप मच्छरों को भगाने के लिए अपने कमरे के चारों तरफ कौनो में बांध सकते हैं इससे आपके कमरे के मच्छर खत्म हो जाते हैं.

    17- 50 ग्राम अजवाइन और 50 ग्राम मिश्री पीसकर चूर्ण बना लें और रोजाना पानी से इस चूर्ण को खाए इससे आपकी मूत्र संबंधित समस्याएं खत्म होगी और पेशाब आने में दर्द भी नहीं होगा.

    18- 3 चम्मच अजवाइन को पानी में डालकर उबालें जब उस पानी से भाप निकलने लगे तो अपना मुंह को किसी कपड़े से ढक कर उसकी भाप को नाक से सांस लेते हुए खींचे. इससे आपकी नाक भी खुल जाएगी और सिर दर्द में भी राहत मिलेगी.

    19- अधिकतर बच्चों के पेट में कीड़े पड़ जाते हैं तो आप एक चम्मच अजवाइन का चूर्ण, लगभग एक कप मट्ठे के साथ कुछ दिनों तक देने से पेट के सारे कीड़े लैट्रिन द्वारा बाहर निकल जाते हैं.

    अजवाइन के नुकसान – (Side effects of carom seeds in hindi)

     हर चीज के अपने फायदे और नुकसान होते हैं हम यहां अजवाइन के बारे में बात कर रहे हैं जिसके हमने आपको बहुत सारे कई सेहतमंद फायदे और घरेलू उपायों के बारे में भी बताया.

    लेकिन किसी भी चीज का जरूरत से ज्यादा या अधिक मात्रा में सेवन कर लेने से हमें नुकसान हो सकता है तो आइए जानते हैं अजवाइन के नुकसान के बारे में.

    1- अगर आप अजवाइन का सेवन अधिक मात्रा में कर लेते हैं तो आपके पेट में जलन, उल्टी, और सिरदर्द जैसी समस्याएं हो सकती है.

    2- गर्भवती महिलाओं को अजवाइन का सेवन अधिक मात्रा में नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे उनके गर्भपात में समस्या हो सकती है.

    3- यदि आप खून को पतला करने के लिए दवाइयां ले रहे हैं तो आपको अजवाइन का सेवन डॉक्टर की सलाह लेने के बाद ही करना चाहिए क्योंकि यह आपके खून को और भी पतला कर सकती है.

    4- यदि आपको अजवाइन खाने से किसी तरह की एलर्जी, पेट में दर्द, छाले, पेट में जलन, महसूस हो रही हो तो आप अजवाइन का सेवन अधिक मात्रा में ना करें और हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

    5- हमें प्रतिदिन अजवाइन की 10 ग्राम मात्रा का ही सेवन करना चाहिए, यदि हम 10 ग्राम मात्रा से ज्यादा सेवन करते हैं तो यह हमारे शरीर की सेहत पर नुकसान कर सकती है.

    अजवाइन के पौष्टिक तत्व और उनकी मात्रा - Nutritional elements of carom seedst and their quantity

    पोषक तत्व (Nutrients) मात्रा (The quantity) - value per 100gm
    टोटल फेट (Total fat) 25 g
    ऊर्जा (Energy) 305 kcal
    प्रोटीन (protein) 16 g
    कार्बोहाइड्रेट (carbohydrate) 43 g
    फाइबर (Fiber) 21.2 %
    सोडियम (Sodium) 10 mg

    निष्कर्ष – (The conclusion in hindi)

    हमने अपने इस लेख में अजवाइन से जुड़ी हुई जितनी ज्यादा जानकारी हो सकती है वह आपके साथ साझा (Share) की है. हमने बताया है कि अजवाइन के क्या सेहत को फायदे होते हैं.

     इसके पोषक तत्वों के बारे में, अजवाइन के घरेलू उपायों के बारे में, और इससे जुड़ी हुई कुछ जानकारी.

    इस पूरे लेख से हमें यही निष्कर्ष मिलता है कि हमें अपने आप को स्वस्थ रखने के लिए अजवाइन का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि इसके अनेकों फायदे होते हैं.

    अजवाइन प्राचीन समय से ही एक औषधियों के रूप में उपयोग की जा रही है और आज भी बहुत सी ऐसी आयुर्वेदिक दवाइयों में और चूर्ण में अजवाइन का मिश्रण हमेशा मिलता है.

    बस हमें यह ध्यान रखना है कि हमें अजवाइन की कितनी मात्रा का सेवन करना है वैसे तो अजवाइन एक प्राकृतिक मसाला और औषधि है लेकिन इसका कोई भी घरेलू उपयोग करने से पहले आपको एक बार आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह जरूर लेनी चाहिए. धन्यवाद

    और भी पढ़ें

    Share Post

    0 Comments: