गर्मी और लू से कैसे बचें, लक्षण, घरेलू उपाय और 10 टिप्स - How to avoid heatstroke, Symptoms, home remedies in hindi

गर्मी और लू से कैसे बचें, घरेलू उपाय और 10 टिप्स - How to avoid heatstroke, home remedies and 10 tips in hindi

हम अपने इस लेख में बताने जा रहे हैं कि आप गर्मियों (Summer) के दिनों में धूप और लू (Sunstroke) से कैसे बच सकते हैं और हम कैसे घरेलू उपायों के फायदों से अपने आप को गर्मी से बचा सकते हैं.

यह सलाह हम अपने परिवार वालों को अपने दोस्तों को और किसी भी लोगों को बता सकते हैं इससे उन्हें भी जानकारी होगी और वह अपने आप को गर्मी से बचा सकते हैं.

जैसा कि आप लोग जानते ही हैं कि हमारे पूरे 1 साल में 6 ऋतुएँ होती है जिसमें ग्रीष्म ऋतु (Summer season) भी एक ऋतु है जिसमें हमारा वातावरण या मौसम बहुत ही उच्च तापमान का हो जाता है.

गर्मियों के दिनों में सूरज पृथ्वी के बहुत निकट आ जाता है जिससे ऋतुएँ भी उत्पन्न होती हैं और सूर्य की रोशनी सहन करने योग्य नहीं होती है.

भारत में अप्रैल से जुलाई तक ग्रीष्म ऋतु मानी जाती है सबसे ज्यादा गर्म हवाएं गुजरात और राजस्थान में चलती है जिन्हें हम लोग लू कहते हैं. राजस्थान का काफी इलाका मरुस्थलीय है इसीलिए वहां पर तापमान सबसे ज्यादा रहता है.


जब सर्दियों जाती हैं और धीरे-धीरे गर्मियां शुरू होने लगती हैं तो इसका एहसास हमें होने लगता है. गर्मियों के मौसम में सबसे ज्यादा परेशानी हमें धूप से या सूर्य से निकलने वाली गरम-गरम किरणों से होता है.

जिन्हें सहन करना हमारे लिए बहुत ही मुश्किल होता है ऐसे में मनुष्य तो इन सब परेशानियों से गुजरता ही है साथ में जानवर, पशु, पक्षी भी इन सब परेशानियों से गुजरते हैं.

गर्मियों के मौसम में हमें बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है, हमें हमारी सेहत का बहुत अच्छी तरह से ध्यान रखना पड़ता है थोड़ी सी लापरवाही से हमारी सेहत बिगड़ सकती है.

गर्मियों के दिनों में आमतौर से हमें त्वचा की समस्याएं, पसीना आना, घमोरियां होना, फुंसियां, उल्टी, दस्त, थकान, चक्कर , सांस का फूलना, सिर दर्द, भूख कम लगना यह सब परेशानियां हो सकती हैं.

    लू कैसे लगती है या कारण – (Reason of heat stroke in hindi)

    गर्मियों के मौसम में बहुत गर्म हवाएं चलती हैं और सूर्य का तापमान भी अपने उच्च परम सीमा पर होता है यदि कोई व्यक्ति निरंतर बड़े लंबे समय तक गर्मी में काम कर रहा हो, व्यायाम कर रहा हो या बस में ट्रेन में बैठकर जा रहा हो किसी भी स्थिति में जब उसके शरीर का तापमान बढ़ जाता है.या उसका शरीर ज्यादा अधिक गर्म हो जाता है.

    यदि यह तापमान 40 डिग्री सेल्सियस या उससे अधिक हो जाता है तो लू लगने की संभावनाएं उत्पन्न हो जाती हैं और लू लग भी सकती है. गर्मियों में लू ज्यादातर बच्चों और वृद्धों को लगती है क्योंकि उनका इम्यून सिस्टम मजबूत नहीं होता है.

    जिन लोगों को डायबिटीज, हृदय रोग, ब्लड प्रेशर की बीमारियां होती है यह लोग भी गर्मियों में लू के चपेट में आ जाते हैं.

    • गर्मियों के मौसम में यदि हम नंगे पाव धूप में चलते हैं, खुले शरीर काम करते हैं तो हमें लू लग सकती है. 
    • जब कभी हम गर्मियों के मौसम में खाली पेट और पर्याप्त मात्रा में पानी ना पिए और बाहर निकल जाए तो हम गर्म हवाओं के चपेट में आ सकते हैं.
    • ऑफिस में या घर में यदि हम कूलर या A.C में बैठे हुए हैं और तुरंत हम उठकर बाहर धूप में चले जाते हैं तब हमें लू लगने की संभावना बहुत तेज होती है. 
    • यदि हम बाहर धूप से काम करके या बाहर से सफर करके आ रहे हैं तब हम तुरंत फ्रिज का ठंडा पानी या हम सीधे कूलर या A.C के सामने बैठ जाते हैं तब भी हमें लू लग सकती है. 
    • तेज मिर्च मसाले, बाहर का ऑइली फूड, बहुत गर्म खाना, शराब का अधिक मात्रा में सेवन करना भी नुकसानदायक हो सकता है.
    • यदि हम गर्मियों में सिंथेटिक, पॉलिस्टर, नायलॉन और कसे हुए कपड़े पहनते हैं तब भी हमें लू लगने की संभावना हो सकती है.


    गर्मी और लू से कैसे बचें, घरेलू उपाय और 10 टिप्स - How to avoid heatstroke, home remedies and 10 tips in hindi

    लू लगने के लक्षण – (Heat stroke symptoms in hindi)

    जब किसी को गर्मियों में लू लग जाती हैं तो लू लगने की कुछ लक्षण हमें दिखाई देने लगते हैं जैसे कि

    1. शरीर का उच्च तापमान अधिक होना जब शरीर का तापमान 40 डिग्री सेल्सियस या उससे अधिक हो जाता है तो लू लगने की संभावना उत्पन्न हो जाती है.

    2. आपकी सांस लेने की जो गति होती है वह बढ़ जाती है और तेज सांस लेने लगते हैं.

    3. हमारे दिल की जो धड़कन होती है उसकी दर में भी वृद्धि हो जाती है और हमारा हृदय बहुत तेज धड़कने लगता है.

    4. लू लगने से हमारे सिर में भी दर्द हो सकता है.

    5. लू लगने से हमें पेट की भी समस्या हो सकती है और आपको उल्टी, जी घबराना, दस्त जैसी समस्याएं हो सकती है.

    6. लू लगने के बाद आपके शरीर का तापमान बढ़ जाता है जिससे आपकी त्वचा कर रंग लाल हो सकता है.

    7. लू लगने के बाद हमें बहुत थकान महसूस होती है हल्का बुखार सा भी महसूस होता है और किसी भी काम में मन नहीं लगता है.

    7.  बार बार मुंह सूखना, हाथ पैरों में कमजोरी आना, शरीर का ढीला पड़ जाना और हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली भी कमजोर हो जाती है. हमें एकदम पसीना आ सकता है या बंद हो जाता है.

    गर्मी या लू से बचने के लिए कुछ बातों को रखें ध्यान – (Keep some things in mind to avoid heat or heat stroke in hindi)

    1. गर्मियों में हमें ज्यादा कसे हुए कपड़े, सिंथेटिक, नायलॉन, पॉलिस्टर कपड़ों का उपयोग नहीं करना चाहिए हमेशा गर्मियों में हल्के रंग के कपड़े और ढीले कपड़े पहनने चाहिए जिससे हमारे शरीर को हवा मिल सके हमें गर्मियों में कॉटन, शिफॉन, क्रेप आदि कपड़ों का उपयोग करना चाहिए.

    2. हमें गर्मियों में कभी भी नंगे बदन या नंगे पाव काम नहीं करना चाहिए इससे हमारा शरीर धीरे धीरे गर्म होने लगता है जिससे हमारे शरीर का तापमान बढ़ जाता है.

    3. जब भी गर्मियों के मौसम में आप बाहर निकलते हैं तब आप हमेशा अपने शरीर को पूरी तरह से कपड़ों से ढके रहें अपने सिर पर कैप पहने, सनस्क्रीन, हाथों में गर्मियों के दस्ताने और सनग्लास का भी यूज़ करें.

    4. जब भी आप गर्मियों में अपने काम से बाहर जा रहे हैं तो आप पर्याप्त मात्रा में पानी पीकर जाए, खाली पेट ना जाए और आप अपने शरीर को ठंडा रखने के लिए नींबू पानी, नींबू शिकंजी, शरबत, दही की लस्सी, छाछ, फलों का रस पी सकते हैं, साथ में हमेशा आप अपने पास एक ठंडे पानी की बोतल भी रखें जिससे आपके शरीर के अंदर पानी की कमी नहीं होगी और आप ऊर्जावान बने रहेंगे.

    5. जब आप गर्मी में बाहर निकलते हैं तो आप अपने साथ धूप से बचने के लिए छाते का इस्तेमाल कर सकते हैं.

    6. जब कभी आप धूप से या गर्मी से घर पर आ रहे हैं तो कभी एकदम से ठंडा फ्रिज का पानी ना पिए हल्का ठंडा पानी पिए और एकदम से A.C या कूलर के सामने ना बैठे. ठीक इसके विपरीत जब आप घर पर A.C या कूलर में बैठे हो तो एकदम से बाहर धूप में या गर्मी में नहीं जाना चाहिए.

    7. गर्मियों में जब भी हम बाहर से काम करके या खेल कर या व्यायाम करके आते हैं तो हमें पसीना अधिक मात्रा में आता है तब हमें तुरंत नहाना नहीं चाहिए जब आपका पसीना अच्छे से सूख जाए फिर आप नहा सकते हैं.

    8. गर्मियों में दोपहर के समय सबसे ज्यादा तापमान रहता है इसलिए आप अपने जो भी दिन भर के कार्य हैं उनको सुबह के टाइम या शाम के टाइम करने की प्लानिंग करें जिससे आप धूप से बचे रहेंगे.

    9. गर्मियों में ज्यादा आप तेल मसाले वाली चीजें ना खाएं और बाहर भी ज्यादा अधिक मात्रा में भोजन और ऑयली चीजों का सेवन ना करें क्योंकि गर्मियों के मौसम में गलत खानपान से तुरंत हमें पाचन क्रिया संबंधित समस्याएं जैसे गैस, एसिडिटी, पेट खराब होना, दस्त लगना जैसी समस्याएं होने लगती है.

    10. हमें हमेशा मौसम के हिसाब से ही फलों का सेवन करना चाहिए गर्मियों के मौसम में खीरा, तरबूज, खरबूज, ककडी, गन्ने का रस, संतरा, पपीता इन सब चीजों का सेवन करना चाहिए जिससे आपके शरीर में पानी की मात्रा बराबर बनी रहेगी और आपको डिहाइड्रेशन की समस्या भी नहीं होगी.


    गर्मी और लू से कैसे बचें, घरेलू उपाय और 10 टिप्स
    SYMPTOMS OF HEAT STROKE

    गर्मियों में लू से बचने के घरेलू फायदे – (Home benefits to avoid heat stroke in summer in hindi) 

    1. गर्मियों में सबसे अच्छा आप जितना पानी पिए आप उतने ही सुरक्षित रहेंगे यदि आप थकान महसूस कर रहे हैं तब भी आप अपने चेहरे को ठंडे पानी से धो सकते हैं जिससे आप फ्रेश महसूस करेंगे.

    2. गर्मियों के मौसम में हमें खीरा जरूर खाना चाहिए यह बहुत फायदेमंद होता है और खीरे के जूस को यदि आप अपने चेहरे पर लगाते हैं यह एक मॉइश्चराइजर का काम करता है इससे आपके चेहरे को ठंडक महसूस होती है और आप सूरज कि गर्म किरणों से भी बचे रहते हैं.

    3. गर्मियों में लू से बचने के लिए आप एलोवेरा का जूस जरूर पीएं क्योंकि एलोवेरा का जूस पीने से यह आपके शरीर को अंदर से ठंडक देता है आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है इसलिए जब भी आप घर से बाहर जाएं तो आप एक गिलास एलोवेरा का जूस जरूर पीएं.

    4. गर्मियों में लू से बचने के लिए आप सौंफ के पानी का सेवन कर सकते हैं इससे आपके शरीर को बहुत ठंडक मिलेगी और आप गर्मी से बचे रहेंगे.

    5. गर्मियों के दिनों में है नारियल का पानी जरूर पीना चाहिए क्योंकि नारियल के पानी के अंदर बहुत से पोषक तत्व होते हैं जो हमारे शरीर को लू लगने से बचाते हैं.

    6. गर्मियों में आप नीम के पत्तों को पानी मे उबालकर उसके पानी का इस्तेमाल कर सकते हैं इससे आपके शरीर की दुर्गंध भी खत्म होगी और गर्मियों में जो घमोरियां, फोड़े, फुंसी, खुजली होने लगती है उसमें भी राहत मिलेगी.

    7. गर्मियों में सबसे अच्छा लू से बचने के लिए आप प्याज और लहसुन का इस्तेमाल कर सकते हैं. गर्मियों में प्याज का सेवन करना बहुत ही फायदेमंद होता है आप इसे अपने आहार के साथ सलाद के रूप में खा सकते हैं. जब आप कहीं धूप में बाहर निकल रहे हैं तो आप अपने साथ प्याज और लहसुन को साथ में रख सकते हैं जिससे यह आपको गर्म हवाओं से और लू से बचाता है.

    8. गर्मियों के दिनों में आपको पुदीना, आम का पना, नींबू पानी, जलजीरा इन सभी पदार्थों को पीना चाहिए क्योंकि यह हमें धूप से बचने में मदद करते हैं.

    9. गर्मियों में गर्मी के प्रकोप और लू से बचने के लिए आप बेल का शरबत पी सकते हैं गर्मियों में बेल खाना या उसका शरबत पीना किसी रामबाण औषधि से कम नहीं यह हमारे पेट के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है.

    लू लगने के बाद आजमाएं घरेलू उपाय – (Try home remedies after sunstroke in hindi) 

    • लू लगने के बाद आप जौ के आटे और प्याज को पीसकर पेस्ट बनाएं और किसी अपने शरीर पर लगाएं इससे आपको काफी आराम मिलेगा. 
    • लू लगने के बाद आप एक कच्चा आम ले उसे आग में भुने और उसके लेप को आप अपने हाथों की हथेली और पैरों के तलवों पर मालिश करें इससे आपको काफी राहत मिलेगी. 
    • आंवले का चूर्ण 1 ग्राम, मीठा सोडा आधा ग्राम और 3 ग्राम मिश्री के साथ सौंफ के रस के साथ देने से लू मे काफी आराम मिलता है. 
    • लू लगने के बाद आप ताजी प्याज का रस निकालकर उसे अपने सीने और पैरों के तलवों पर मालिश करें जिससे आपके शरीर की गर्मी धीरे धीरे कम होगी और आपको आराम मिलेगा. 
    • यदि आपको ऐसा महसूस होता है कि आप को लू लग गई है तो आप इमली का गूदा पानी में घोलकर हथेलियों और तलवों पर मालिश कर सकते हैं.
    • लू लगने पर आप बेल का जूस, नींबू नमक का शरबत, कच्चे प्याज का सेवन, आम का पना इन सब का उपयोग लू के असर को कम करने के लिए अच्छा होता है.
    • धनिए को पानी में भिगो लें फिर उसे अच्छी तरह मसल कर उसका रस निकाल लें फिर उसमें थोड़ी सी मिठास के लिए शक्कर मिला ले इसे पीने से गर्मियों में काफी आराम मिलता है. 
    • लू लगने के बाद आप प्याज को अपने पैरों के तलवों में मालिश करें जिससे आपके शरीर की गर्मी धीरे-धीरे कम होगी और आपको आराम मिलेगा.
    • गर्मियों में हमें घमौरियों की शिकायत बहुत होती है, घमोरियां हो जाने पर हम नीम और तुलसी का पेस्ट लगाएं तो यह बहुत फायदेमंद होता है. 

    निष्कर्ष – (The conclusion in hindi)

    हमने अपने इस पूरी पोस्ट में यह बताया है कि गर्मियों के दिनों में आप धूप और लू (Sunstroke) से कैसे अपने आप को बचा सकते हैं और लू लगने के बाद आप किन घरेलू उपायों का उपयोग कर सकते हैं, कैसे अपने आप को स्वस्थ कर सकते हैं?

    गर्मियों के दिनों में तापमान बहुत तेज होता है ऐसे में आप अपनी सेहत का अच्छे से ध्यान रखें और कुछ बातों का भी ध्यान रखें जो हमने अपने इस लेख में बताएं हैं जिससे आप गर्मी और लू से बच सकते हैं धन्यवाद.

    और भी पढ़ें

    Share Post

    0 Comments: