सेहत के लिए आंवला व इसके जूस के 14 फायदे,पोषक तत्व और नुकसान - Benefits, nutrients and side effects of Amla in Hindi

स्वास्थ्य के लिए आंवला व इसके जूस के 14 फायदे, नुकसान

स्वास्थ्य (Health) के लिए आंवला (Amla) एक बहुत ही गुणकारी और औषधियों से भरा हुआ फल है. इसके क्या फायदे (fayde) होते हैं और इसमें पोषक तत्वों (Nutrients) की मात्रा कितनी होती है.

आपको बहुत से आंवला फल के आर्टिकल पढ़ने के लिए मिल जाएंगे लेकिन मैं अपने इस आर्टिकल में आपको आंवला के बारे में पूरी और विस्तृत जानकारी दूंगा.

आंवला देखने में एक छोटा सा फल है लेकिन इसमें इतने पोषक तत्व होते हैं जो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद है. आंवला एक बहुत ही प्राचीन फल है जो औषधियों और घरेलू नुस्खों के रूप में प्रयोग किया जा रहा है.

आंवला ठंडी तासीर वाला फल है इसे खाने से हमारे शरीर को अंदर से ठंडक मिलती है साथ ही में पाचन तंत्र को लाभ पहुंचाता है. आजकल हर कोई अपनी लाइफ में बिजी है इसलिए हर कोई अपने स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं दे पाता है.

हमें ज्यादा कुछ नहीं करना है अगर हम आंवला को ही अपने दैनिक जीवन में अपने खाने के साथ या खाली पेट इसका इस्तेमाल करते हैं तो हम अपने शरीर से कई बीमारियों को दूर भगा सकते हैं या बीमारियों को आने से रोक सकते हैं.

हम आंवला का कई तरह भी इस्तेमाल कर सकते हैं हम आंवले का जूस खाली पेट सुबह पी सकते हैं,आंवले का मुरब्बा खा सकते हैं और आंवले की स्वादिष्ट कैंडी भी आती है.

जिसे बच्चे भी बड़े प्यार से खाते हैं. वाराणसी में सबसे अच्छे आंवला फल की पैदावार होती है. हिंदू ग्रंथों में आंवले के फल और उसके वृक्ष की पूजा भी होती है.


    आंवला के बारे में कुछ तथ्य - (Some facts about Amla in hindi)

    • आंवला ठंडी तासीर वाला फल है
    • वनस्पति नाम- फिलेन्थस एंबेलिका
    • व्यापक नाम- गूजबेरी, आमलकी
    • इंग्लिश नेम- इंडियन गूजबेरी 
    • संस्कृत नाम- अमृतफल, अमृता, धत्री, पंचरसा

    आंवला के दिव्य फायदे - (Divine benefits of Amla in hindi)

    1.पाचन शक्ति सही या बढ़ाने के लिए (To correct or increase digestive power in hindi)


    आजकल की भागदौड़ की जिंदगी में लोगों के पास समय की कमी होने की वजह से बहुत से लोग बाहर ही भोजन कर लेते हैं.आजकल फास्ट फूड बहुत चलता है लोग फास्ट फूड , तेल, मसालेदार चीजें खा लेते हैं जिससे उनकी पाचन क्रिया पर बहुत प्रभाव पड़ता है और उनका डाइजेशन सिस्टम खराब हो जाता है.

    जिसके उपरांत बहुत से लोग दवाइयों का सेवन करने लगते हैं और कभी-कभी दवाइयों के आदि भी हो जाते हैं. कहते हैं जो बीमारियां शुरू होती है वह हमारे पेट से ही जन्म लेती हैं. ऐसे में आंवला एक बहुत ही गुणकारी औषधि है जो हमारे पाचन क्रिया को बिल्कुल सही कर देता है.

    आजकल जितनी भी आयुर्वेद या होम्योपैथिक चूर्ण,दवाइयां आती हैं उन सभी में आंवला का प्रयोग किया जाता है. आंवले के प्रयोग से हमारे पेट में होने वाली गैस ,कब्ज, एसिडिटी इन सब में फायदा होता है.

    आंवला पेट के लिए एक रामबाण औषधि है.आंवला के अंदर फाइबर और एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जो हमारी पाचन क्रिया को मजबूत करते हैं.


    2.घने ,स्वस्थ और लंबे बालों के लिए (For thick, healthy and long hair in hindi)


    हर कोई चाहता है कि उसके बाल घने, लंबे, काले और सिल्की हो, इसलिए हम बहुत सारे प्रोडक्ट्स का यूज़ करते हैं. आंवले का चूर्ण का यूज करके हम अपने बालों को सफेद होने से रोक सकते हैं.

    बालों के स्वस्थ होने के लिए हमें विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट पोषक तत्वों की जरूरत पड़ती है जो आंवले के अंदर प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जोकि हमारे बालों के लिए बहुत ही अच्छा फल या औषधि है.

     हम आंवला चूर्ण को अपने बालों के लिए खाली पेट या सीधे आंवला पाउडर बालों में लगाकर यूज कर सकते हैं. जिससे हमारे बाल समय से पहले सफेद नहीं होंगे और बाल झड़ने की समस्या भी कम हो जाती है.

    स्वास्थ्य के लिए आंवला व इसके जूस के 14 फायदे, नुकसान
     आंवला से होने वाले सेहतमंद फायदे (Benefits of amla)

    3.आंखों की रोशनी के लिए (For eyesight in hindi)


    आंवला आंखों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है, आज के समय में छोटे बच्चों में भी आंखों की शिकायत पाई जा रही है, क्योंकि हम अपना ज्यादातर समय टीवी, कंप्यूटर और मोबाइल देखकर व्यतीत करते हैं. इसलिए कुछ समय पश्चात हमारी आंखों में परेशानियां होने लगती है .

    हमें मोतियाबिंद की शिकायत , दूरदृष्टि या निकट दृष्टि दोष होने लगता है, इन सब परेशानियों को दूर करने के लिए हम आंवले का प्रयोग कर सकते हैं बाजार में त्रिफला पाउडर आता है जिसमें आंवला भी मिला हुआ होता है.

    हम एक गिलास पानी में एक चम्मच त्रिफला पाउडर रात में भिगोकर रख दें और सुबह उस पानी को छान कर अपनी आंखें धोएं इससे हमें अपनी आंखों में काफी लाभ मिलेगा.

    4.वजन या मोटापे को कम करने के लिए (To reduce weight or obesity in hindi)


    जो लोग अपने खानपान पर नियंत्रित नहीं रखते हैं और जब भी उनको थोड़ी सी भूख लगती है और वह कुछ ना कुछ खाते रहते हैं तो धीरे-धीरे उनके शरीर का वजन और मोटापा बढ़ने लगता है और धीरे-धीरे बीमारियों की शुरुआत होने लगती है.

    आप अपना मोटापा कम करने के लिए आंवला या आंवले के जूस का प्रयोग कर सकते हैं क्योंकि आंवले के अंदर बहुत सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो आपके वजन कम करने के लिए उपयोग होते हैं, जैसे कि आमला फल आपके मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है.

    क्योंकि मेटाबॉलिज्म के घटने या बढ़ने से हमारे शरीर के वजन पर फर्क पड़ता है. अगर मेटाबॉलिज्म बढ़ता है तो आपके शरीर पर चर्बी(Fat) नहीं चढ़ेगी और आपका वजन भी संतुलित रहेगा.

    5.मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने के लिए (To increase metabolism in hindi)


    अगर आपके शरीर का मेटाबॉलिज्म कम होने लगता है तो आपका वजन बढ़ने लगता है आपके शरीर पर चर्बी चढ़ने लगती है. जब हमारा शरीर आराम के समय होता है तो हमारे शरीर के अंदर बहुत सारी रसायनिक क्रियाएं होने लगती हैं.

    यही रासायनिक क्रियाओं के लिए जितनी ऊर्जा की जरूरत पड़ती है उसकी न्यूनतम मात्रा को ही मेटाबॉलिज्म कहते हैं. आप अपने शरीर के मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने के लिए आंवला फल का उपयोग कर सकते हैं.

    6.त्वचा को निखारने के लिए (To skin in hindi)


    आंवला का उपयोग हम अपनी त्वचा को निखारने और सुंदर बनाने के लिए भी कर सकते हैं. क्योंकि आजकल हर कोई एक-दूसरे से सुंदर दिखना चाहता हैं. और वह बाजार में आने वाले कई प्रोडक्ट,क्रीम बगैरा का भी यूज़ करते हैं.

    आंवले के अंदर विटामिन सी बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है, जो हमारी त्वचा के लिए बहुत लाभदायक हैं. इसके लिए हम आंवले का जूस पी सकते हैं.

    आंवले के चूर्ण को भी खा सकते हैं और आंवला का फेस पैक बनाकर भी आप उसको अपने चेहरे पर लगाकर यूज कर सकते हैं.जिससे आपके चेहरे पर ग्लो आएगा और दाग धब्बे मुंहासे की समस्या भी दूर हो जाएगी.

    7.बढ़ती उम्र को कम करने के लिए (To reduce aging in hindi)


    आज के जमाने में हर कोई जवान दिखना चाहता है लोग 35 की उम्र में भी 25 के दिखना चाहते हैं. लेकिन बुढ़ापा तो जीवन की सच्चाई है इसको हम रोक नहीं सकते लेकिन हम अगर आंवला या आंवले के जूस का उपयोग करते हैं.

    तो हम अपने आने वाले बुढ़ापे की गति को थोड़ा मंद जरूर कर सकते हैं. क्योंकि आंवले के अंदर विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जो हमारी कोशिकाओं को नष्ट होने से बचाते हैं.

    नई कोशिकाओं का निर्माण करते हैं हमारे खून को भी साफ करते हैं जिससे हम थोड़े जवान दिखने लगते हैं.


    8.रोग प्रतिरोधक शक्ति को मजबूत करता है  (Strengthens immunity in hindi)


    अगर आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत है तो कई बीमारियां आपके पास नहीं आएंगी और अगर आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है तो मौसम के परिवर्तन होने से भी सर्दी,खांसी जुखाम, जैसी छोटी-छोटी बीमारियां भी घेर लेती है.

    अगर हम आमला फल का सेवन करते हैं तो इसके अंदर बहुत सारे एंटी ऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल और विटामिन सी और भी कई पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हमें इन छोटी-छोटी बीमारियों से लड़ने मदद करते हैं और हमारे इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करते हैं.

    9.हिमोग्लोबिन को बढ़ाने के लिए (To increase hemoglobin in hindi)


    अगर आपके शरीर में रक्त या हिमोग्लोबिन की कमी है तो आप आमला फल या इसके जूस का सेवन कर सकते हैं क्योंकि आमला फल के अंदर विटामिन सी पाया जाता हैं जो कि हमारे शरीर में नई रक्त कोशिकाओं का निर्माण करता है और खून की कमी को पूरा करता है.

    10.लीवर के लिए (For lever in hindi)


    हम अपने व्यस्त जीवन में खानपान का सही से ध्यान नहीं रख पाते हैं और कभी हम बाहर भोजन कर लेते हैं कभी फास्ट फूड खा लेते हैं जिससे हमारी पाचन क्रिया या लीवर पर असर पड़ता है और हमारा लीवर सही से काम करना बंद कर देता है.

    अगर आप अपनी डाइट में हमने खाने में आमला फल , आमला फल का जूस , आंवले के अचार का नियमित रूप से सेवन करते हैं तो यह आपके लीवर की समस्या ठीक कर देगा और आपके पेट से गैस, एसिडिटी ,कब्ज की समस्या भी दूर हो जाएगी.

    स्वास्थ्य के लिए आंवला व इसके जूस के 14 फायदे, नुकसान
     आंवला से होने वाले सेहतमंद फायदे (benefits of amla)

    11.मजबूत हड्डियों के लिए (For strong bones in hindi)


    आंवला का सेवन करने से हमारी हड्डियां भी मजबूत होती है क्योंकि आमला के अंदर कैल्शियम की मात्रा पाई जाती है जो हमारी हड्डियों के लिए बहुत जरूरी होती है आंवला या आंवले के जूस को पीने से हमें अर्थराइटिस या जोड़ों में दर्द जैसी समस्याएं नहीं होती है.

    12.कैंसर रोग से बचने के लिए (To avoid cancer disease in hindi)


    कैंसर बहुत ही खतरनाक बीमारी है, और यह कई प्रकार के होते हैं. ऐसे मैं बहुत जरूरी है कि आप अपने खानपान का अपने वातावरण का और हर वह नशीली चीज जो आपको नुकसान कर सकती है उसका सेवन ना करें. आंवला के अंदर एंटी कैंसर और एंटी ऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो हमें कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं.

    13.डायबिटीज बीमारी के लिए (For diabetes disease in hindi)


    आज के समय में बहुत से लोग अपनी जीवनशैली पर नियंत्रित नहीं रख पाते हैं क्योंकि उनकी जिंदगी बहुत व्यस्त होती है इसीलिए वह अपने शरीर पर अपने खान-पान पर ध्यान नहीं दे पाते हैं जिससे वह एक संतुलित आहार ग्रहण नहीं करते हैं.

    कभी हम बाहर फास्ट फूड खा लेते हैं मसालेदार चीजें खा लेते हैं मीठे मीठे पकवान मिठाईयां ज्यादा खा लेते हैं कभी हम पूरी नींद भर के भी सो नहीं पाते हैं अनियमित खानपान हो जाता है. इन्हीं सभी चीजों से ही हमें डायबिटीज बीमारी की संभावना होने लगती है.

    डायबिटीज की बीमारी में हमारा ग्लूकोज का स्तर बढ़ने लगता है और वह हमारे शरीर के अंगों को नुकसान पहुंचाने लगता है.

    जिन लोगों को डायबिटीज की बीमारी है उन्हें आंवले का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि यह आपके ग्लूकोज के स्तर को कम करता है और डायबिटीज को कंट्रोल में रखता है.


    14.पथरी की समस्या के लिए (For stone problem in hindi)

    आज के समय में पथरी एक आम समस्या बन गई है बहुत से लोगों को पथरी की शिकायत किसी भी उम्र में हो जाती है पथरी के कारण हमारे पीठ में या पेट में बहुत तेज दर्द होता है.

    अगर आपको पथरी की बीमारी है तो आप इसका सही से इलाज कराएं दवाई ले और साथ में आप इसमें आंवले का जूस या आंवला भी खा सकते हैं . आंवले का जूस पथरी की बीमारी में बहुत फायदेमंद होता है.

    आंवला के पोषक तत्वों की मात्रा – (Gooseberry Nutrient Value Per 100 g in hindi)

    According to the USDA National Nutrients Database

    पोषक तत्व (Nutrients) मात्रा (The quantity) अनुशंसित आहार भत्ता (Recommended Dieatry Allowance - The estimated amount of a nutrient per day for good health)
    ऊर्जा (Energy) 44 Kcal 2 %
    कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates) 10.18 g 8 %
    प्रोटीन (Protein) 0.88 g 1.5 %
    टोटल फैट (Total fat) 0.58 g 3 %
    कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) 0 mg 0 %
    फाइबर (Dietary Fiber) 4.3 g 11 %
    फोलटेस (Folates) 6 mcg 1.5 %
    नियासिन (Niacin) 0.300 mg 2 %
    राइबोफ्लेविन (Riboflavin) 0.030 mg 2 %
    थायमिन (Thiamin) 0.040 mg 3 %
    विटामिन (Vitamin A) 290 IU 10 %
    विटामिन (Vitamin C) 27.7 mg 46 %
    सोडियम (Sodium) 1 mg 0 %
    पोटेशियम (Potassium) 198 mg 4 %
    कॉपर (Copper) 0.070 mg 8 %
    आयरन (Iron) 0.31 mg 4 %
    मैग्नीशियम (Megnesium) 10 mg 2.5 %
    फास्फोरस (Phosphorus) 27 mg 4 %
    जिंक (Zinc) 0.12 mg 1 %
    कैल्शियम (Calcium) 25 mg 2.5 %

    आंवले के नुकसान - (Side effect of gooseberry in hindi)

    हर फल या चीज के नुकसान भी हैं और फायदे भी हैं अगर हम किसी चीज को सही मात्रा में लेते हैं या उसका सेवन करते हैं तो वह कभी भी नुकसान नहीं करेगी लेकिन अगर हम उस चीज का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो हमें वह नुकसान पहुंचा सकती है.

    वैसे तो आंवला फल के फायदे ही फायदे हैं और नुकसान बहुत कम है. आंवला फल की तासीर ठंडी होती है इसलिए हमें ठंड के समय आंवला फल का सेवन कम करना चाहिए .

    इसलिए जिस समय अगर आपको सर्दी,खांसी ,जुखाम हो तो आप आंवले के फल या उसके जूस का सेवन ना करें.

    जब हम आंवले के फल का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो यह आपके चेहरे की नमी को भी कम कर सकता है इसलिए जब हम आंवले के फल का सेवन करते हैं तो उसके बाद हमें काफी अधिक मात्रा में पानी पीना चाहिए.

    आंवले के फल का अधिक मात्रा में सेवन करने से एलर्जी ,उल्टी, पेट दर्द ,एसिडिटी जैसी समस्या भी हो सकती है.

    लोगों के द्वारा पूछे जाने वाले प्रश्न | Questions asked by people

    Q1 - आंवला खाने के क्या फायदे या लाभ होते हैं?
    A - आंवला खाने से हमारी सेहत को कई फायदे होते हैं जैसे कि पाचन शक्ति को सही करना, बालों के लिए, आंखों की रोशनी, मोटापा को कम करना, त्वचा को निखारने के लिए, प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने और लीवर के लिए आदि. हमने अपने लेख में सारे फायदे विस्तार से बताएं हैं.

    Q2 - आंवला के अंदर कौन से विटामिन होते हैं?
    A - आंवला के अंदर कई सारे विटामिन पाए जाते हैं जो हमारी सेहत के लिए बहुत जरूरी होते हैं, जैसे कि ऊर्जा, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन A, विटामिन C, प्रोटीन, डाइटरी फाइबर, राइबोफ्लेविन, सोडियम, पोटेशियम कैल्शियम, आयरन आदि. हमने अपने इस लेख में इन सारे विटामिन की मात्रा के बारे में बताया है.

    Q3 - आंवले की तासीर कैसी होती है?
    A - आंवला की तासीर ठंडी होती है.

    Q4 - आंवला पाउडर कैसे खाएं?
    A - खाना खाने के बाद सोने के पहले गर्म पानी के साथ ½ या एक चम्मच आंवला पाउडर का सेवन करें.

    निष्कर्ष - (Conclusion)

    इस पूरी पोस्ट को पढ़कर हम इस निष्कर्ष पर पहुंचते हैं की हमें आंवले (Amla) के फायदे (Benefits) बहुत हैं और नुकसान कम, आंवला एक बहुत पुराना औषधीय फल है. आंवला फल का सेवन हमारी पूरी बॉडी के लिए बहुत ही अच्छा है और यह हमारे इम्यूनिटी सिस्टम को भी मजबूत बनाता है.

    बस केवल यह ध्यान रखें कि आंवला फल की तासीर ठंडी होती है इसलिए इसका सेवन हम गर्मियों में ठंड की अपेक्षा ज्यादा कर सकते हैं.

    हम आंवला,आंवले के जूस का, आंवले के चूर्ण का सेवन कर सकते हैं अगर हम आंवले के जूस को सुबह खाली पेट पीते हैं तो यह ज्यादा फायदा करता है.

    और भी पढ़ें
    Share Post

    0 Comments: