सेहत के लिए अनार के 12 फायदे, पोषक तत्व, उपयोग और नुकसान - Benefits of pomegranate (anar), nutrient, uses and Side Effect in Hindi

सेहत के लिए अनार के 12 फायदे, पोषक तत्व, उपयोग और नुकसान

अनार एक ऐसा फल है जो खाने में स्वादिष्ट तो है ही और साथ में गुणों से भरपूर है. स्वास्थ(Health) के लिए अनार व इसका जूस बहुत ही फायदेमंद है.

हमने अपनी इस पोस्ट में अनार के सेहतमंद फायदे, पोषक तत्वों की मात्रा और इसके क्या नुकसान हो सकते हैं इसके बारे में बताया है.

अनार खाने से हमें कई सेहतमंद फायदे होते हैं क्योंकि इसके मीठे और रस भरे हुए लाल दानों में कई विटामिंस, मिनरल्स, एंटीऑक्सीडेंट, फाइबर और फोलिक एसिड भरपूर मात्रा में होते हैं.

आखिर हमें अनार क्यों खाना चाहिए इससे क्या फायदे हैं और यह हमारे स्वास्थ(Health) के लिए कैसे लाभदायक है? जब आप ये पूरा आर्टिकल पढ़ेंगे तो आप भी अनार खाना शुरु कर देंगे.

अनार का फल ही नहीं बल्कि इसका पेड़ भी औषधीय गुणों से भरपूर होता है. फल की अपेक्षा कली व छिलके में भी अधिक गुण पाए जाते हैं.

वह कहावत तो आपने सुनी ही होगी, ‘एक अनार सौ बीमार’

अमेरिकी संस्था द्वारा किए गए एक अध्ययन की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि यदि रोजाना अनार खाने की आदत डाल दें तो दिल की बीमारी, कैंसर, कील-मुंहासो, क्लीनर ,सेक्स लाइफ, नई कोशिकाओं के निर्माण में, और यह हमारी स्किन या फेस के लिए बहुत ही फ़ायदेमंद है साथ ही मैं अनार के अंदर हमारी हमारी बढ़ती हुई उम्र को भी कम करने के लक्षण होते है.

    अनार की सेहतमंद फायदे - (Health benefits of pomegranate in hindi)

    1- कैंसर (Cancer in hindi)


    कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी के लिए भी अनार बहुत ही उपयोगी माना जाता है. कैंसर के मामलों में बीमारियों का पता तब चलता है. जब वह अपनी पहली स्टेज पार कर चुका होता है. कैंसर भी कई प्रकार का होता है और इसके लक्षण कुछ इस प्रकार है.

    जैसे पेशाब में आने वाला खून, खांसी के दौरान खून का आना, स्तन में गांठ, कुछ खाने में दिक्कत, खून की कमी की बीमारी. कैंसर जैसी घातक बीमारी में अनार हमारे लिए बहुत ही लाभदायक साबित हो सकता है. कई शोधों में यह पाया गया है कि  अनार के बीजों में एंटी कैंसर गुण होते हैं.

    जो हमारी कैंसर कोशिकाओं को या कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकते हैं. हर रोज अनार के कुछ मुट्ठी भर दाने खाने से या उसका जूस पीने से ब्रेस्ट कैंसर, स्किन कैंसर का भी खतरा कम हो जाता है.

    इसके दाने खाने से PSA(prostate specific antigen) का स्तर घट जाता है और कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों से लड़ने में भी मदद मिलती है. अध्ययनों से साबित हुआ है कि अनार का सेवन करने से यह फेफड़ों के कैंसर को भी रोकता है.


    2- खून (Blood in hindi)


    अनार का सेवन हमारे खून को पतला करता है और खून की कमी को भी पूरा करता है. अनार का जूस पीने से हमारे ब्लड सरकुलेशन को ठीक करता है और हम एनीमिया जैसी बीमारियों से बच सकते हैं.

    3- प्रेगनेंसी (Pregnancy in hindi)


    हर महिला के लिए प्रेगनेंसी का समय बहुत ही कष्टदायक या संवेदनशील माना जाता है. जब कोई महिला गर्भावस्था मैं होती है तो उसे बहुत चीजों का ध्यान रखना पड़ता है. थोड़ी सी भी लापरवाही मां और बच्चे के लिए खतरनाक साबित हो सकती है.

    अनार का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान बहुत ही लाभदायक होता है. क्योंकि इसमें बहुत सारे विटामिंस, मिनरल्स होते हैं जो बच्चे और मां दोनों के लिए ही बहुत ही लाभदायक होते हैं. अनार में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो बहुत से रोगो से लड़ने में मदद करता है.

    प्रेगनेंसी के दौरान महिलाएं कमजोरी और थकान महसूस करती हैं अगर वह नियमित अनार का सेवन करेंगे तो इससे उनकी कमजोरी भी दूर होगी.

    अनार का सेवन गर्भावस्था के दौरान करते रहना चाहिए क्योंकि इससे शरीर में खून की कमी नहीं होती है. जो कि महिलाओं के लिए बहुत जरूरी है.

    अनार के सेवन से मां के पेट में पल रहे बच्चे का विकास सुचारू रूप से होता है और उसमें कोई भी मानसिक कमी या खून की कमी नहीं होती है. अनार में प्रचुर मात्रा में पोटेशियम होता है जो मांसपेशियों और नसों के दर्द को भी कम करता है.


    4- वजन घटाना (Lose weight in hindi)


    आजकल के व्यस्त जीवन में समय की कमी के अभाव से लोगों का मोटापा बढ़ता जा रहा है शायद आपको यह पता होगा कि अनार की सेवन से आप अपने मोटापे को भी कंट्रोल कर सकते हैं, क्योंकि अनार में फाइबर का गुण पाया जाता है जो कि मोटापा घटाने मैं मदद करता है.

    अनार में फाइबर की जो मात्रा होती वह 4.0g होती है अनार खाने या इसके जूस पीने से आप अपने शरीर पर चढ़ने वाली चर्बी को कम कर सकते हैं और साथ में अपने वजन को कंट्रोल भी कर सकते हैं.


    5- रक्तचाप (blood pressure in hindi) 


    अनार का सेवन करने से यह हमारे ब्लड प्रेशर यह रक्तचाप को भी कंट्रोल करता है. ब्लड प्रेशर एक खतरनाक बीमारी है और यह कभी-कभी जानलेवा भी हो सकती है. अनार में एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जो रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करते हैं.

    6- हड्डियों में मजबूती (Firmness in bones in hindi)


    अगर आप अपने शरीर में हड्डियों व जोड़ों के दर्द से काफी परेशान होते हैं तो अनार का सेवन करने से आपको काफी राहत मिल सकती है. अनार में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होता है जो हड्डियों के दर्द में फायदेमंद साबित हो सकता है.

    7- सौंदर्य (Beauty in hindi)


    आज के जमाने में हर कोई चाहता है कि वह सुंदर दिखे और उसके चेहरे पर एक अलग चमक और गिलो रहे, अगर आप ऐसा चाहते हैं तो आपको अनार का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि अनार के अंदर बहुत सारे मिनरल्स, विटामिंस, एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो हमारे चेहरे की त्वचा को निखारते है.

    हमारे चेहरे पर जो कील मुंहासे पनपते है अनार का सेवन करने से हमारे चेहरे पर होने वाले कील मुंहासे, चेहरे पर दाग धब्बे और झुर्रिया की समस्या को भी दूर करता है.

    सेहत के लिए अनार के 12 फायदे, पोषक तत्व, उपयोग और नुकसान
    अनार खाने से होते हैं यह सेहतमंद फायदे, अनार खाइए और स्वस्थ रहिए

    अनार व उसके जूस के और भी कई फायदे हैं जो इस प्रकार है -  (Many other benefits of Pomegranate in hindi )

    1- अनार का जूस पीने से दिल की समस्या दिल का धड़कना जैसी बीमारियों की समस्या भी खत्म होती है.
    दिल को स्वस्थ बनाए रखने के लिए आपको अनार का जूस का सेवन जरूर करना चाहिए.

    2- गर्मियों के मौसम में बहुत ज्यादा गर्मी होने के कारण हमें कमजोरी और चक्कर आने की शिकायत होने लगती है, सिर में दर्द हाथ पैरों में दर्द होने लगता है इस समस्या को कम करने के लिए अनार के जूस का सेवन कर सकते हैं.

    3- अनार की सेवन से आप अपने लीवर पर जमी हुई चर्बी को भी कम कर सकते हैं.

    4- पेट के कीड़े खत्म करने के लिए भी आप अनार का सेवन कर सकते हैं.

    5- अगर आप भी ऑफिस के काम से या अपने घर के काम से थक जाते हैं और आप स्ट्रेस महसूस करने लगते हैं तब आप एक अनार खाने की रोज आदत डालें और यह आपको स्ट्रेस कम करने में मदद करेगा.

    6- अनार खाने से वह हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाता है. जिससे हमारे खून की कमी को पूरा करता है और हमें थकान और अनिद्रा से दूर करता है.

    अनार के पोषक तत्वों की मात्रा – (Pomegranate Nutrient Value Per 100 g in hindi)

    According to the USDA National Nutrients Database

    पोषक तत्व (Nutrients) मात्रा (The quantity) अनुशंसित आहार भत्ता (Recommended Dieatry Allowance - The estimated amount of a nutrient per day for good health)
    ऊर्जा (Energy) 83 Kcal 4 %
    कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates) 18.70 g 14 %
    प्रोटीन (Protein) 1.67 g 3 %
    टोटल फैट (Total fat) 1.17 g 6 %
    कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) 0 mg 0 %
    फाइबर (Dietary Fiber) 4 g 11 %
    फोलटेस (Folates) 38 µg 1.5 %
    नियासिन (Niacin) 0.293 mg 2 %
    राइबोफ्लेविन (Riboflavin) 0.053 mg 4 %
    थायमिन (Thiamin) 0.067 mg 5.5 %
    विटामिन (Vitamin A) 0 IU 0 %
    विटामिन (Vitamin C) 10.2 mg 17 %
    विटामिन (Vitamin E) 0.60 mg 4 %
    विटामिन (Vitamin K) 1.64 µg 14 %
    सोडियम (Sodium) 3 mg 0 %
    पोटेशियम (Potassium) 236 mg 5 %
    कॉपर (Copper) 0.158 mg 18 %
    आयरन (Iron) 0.30 mg 4 %
    मैग्नीशियम (Megnesium) 12 mg 3 %
    फास्फोरस (Phosphorus) 36 mg 5 %
    जिंक (Zinc) 0.35 mg 3 %
    कैल्शियम (Calcium) 10 mg 1 %
    सेहत के लिए अनार के 12 फायदे, पोषक तत्व, उपयोग और नुकसान

    अनार के घरेलू उपाय | Pomegranate Home Remedy in hindi

    बहुत से फलों का घरेलू उपायों की तरह उपयोग करके हम अपने स्वास्थ्य की देखभाल भी कर सकते हैं. तो आइए जानते हैं कि अनार का हम कैसे घरेलू उपयोग कर सकते हैं?

    नाक से खून आना - A. अनार के रस को नाक में डालने से नाक से खून आना बंद हो जाता है.

    B. 100 gm अनार की हरी पत्तियां, 50 ग्राम गेंदे की पत्तियां, 100 ग्राम धनिया और 100 ग्राम हरी खास को एक साथ पीसकर पानी में मिलाकर शरबत बना ले. इस शरबत को दिन में 4 बार पीने से नाक से खून आना ठीक हो जाता है.

    पेशाब का अधिक मात्रा में आना – A. एक चम्मच अनार के छिलकों का चूर्ण एक कप पानी के साथ दिन में 3 बार सेवन करें इससे अधिक मात्रा में बार-बार पेशाब जाना बंद हो जाता है.

    B. अनार के छिलकों को छाया में सुखाकर बारीक चूर्ण बना लें. 3 ग्राम चूर्ण सुबह-शाम पानी के साथ लेने से बार-बार पेशाब जाने में छुटकारा मिलता है.

    सौंदर्य बढ़ाने के लिए - गुलाब जल में अनार के छिलकों के बारीक चूर्ण को मिलाकर अच्छी तरह लेप बनाएं. इस लेप को सोते समय नियमित रूप से लगाकर सुबह चेहरा धो लें. इससे चेहरे पर होने वाली झुर्रियां, काले दाग, कील-मुंहासे दूर होंगे और चेहरे में चमक आएगी.

    शरीर की गर्मी - अनार का रस पानी में मिलाकर पीने से गर्मी के दिनों में बड़ी शरीर की गर्मी दूर होती है. 

    दांत से खून आना- अनार के फूल छाया में सुखाकर बारीक पीस लें. इसे मंजन की तरह दिन में 2-3 बार दातों में मलने से दांतों से खून आना बंद होकर दांत मजबूत हो जाते हैं. 

    उल्टी – A. अनार के बीज को पीसकर उसमें थोड़ी सी काली मिर्च और नमक मिलाकर खाने से और घबराहट में आराम मिलता है. 

    B. अनार का रस पीने से गर्भवती महिलाओं को भी उल्टी की समस्या कम होती है. 

    C. अनार के रस में शहद मिलाकर चाटने से उल्टी आना बंद हो जाता है.

    D. सूखे अनार दाने को पानी में भिगो दें थोड़ी देर के बाद इस पानी को पीने से उल्टी आने के रोग में लाभ मिलता है. 

    बच्चों की खांसी - बच्चों को खांसी होने पर अनार की छाल खाने के लिए देनी चाहिए अथवा अनार के रस में घी, शक्कर, इलायची और बादाम मिला कर दें. 

    बच्चों को दस्त - पेचिश की शिकायत होने पर अनार की छाल को घिसकर पिलाने से लाभ मिलता है.

    पेट के कीड़े - अनार की जड़ और तने की छाल का काढ़ा बनाकर पिलाना चाहिए अथवा अनार की छाल के काढ़े में तिल का तेल मिलाकर 3 दिन तक पिलाना चाहिए इससे पेट के कीड़े नष्ट हो जाते हैं. 

    नेत्र की गर्मी - अनार के दानों का रस आंख में डालना चाहिए इससे आंखों की गर्मी नष्ट हो जाती है. 

    छाती का दर्द – A. अनार के दानों के रस में 1 ग्राम सोनामक्खी का चूर्ण मिलाकर पिलाना चाहिए इससे छाती का दर्द नष्ट हो जाता है. 

    B. अनार के दानों का रस 10 मिलीमीटर मैं इतनी ही मात्रा में मिश्री मिलाकर पीने से हृदय को लाभ होता है और छाती का दर्द भी दूर होता है. 

    अतिसार - 10 ग्राम अनार की छाल, 10 ग्राम पुराना गुड़ और 5 ग्राम जीरा मिलाकर देना चाहिए इससे एक या 2 दिन में ही अतिसार में लाभ होता है.

    पीलिया - अच्छे अनार के 20 मिलीलीटर रस में 10 ग्राम मिश्री मिलाकर सुबह-शाम देना चाहिए ऐसे थोड़े दिनों में ही पीलिया ठीक हो जाता है. 

    खून की कमी - अनार खाने और रस पीने से शारीरिक कमजोरी नष्ट होती है और खून की कमी एनीमिया की बीमारी में भी फायदा मिलता है. 

    खूनी बवासीर - खूनी बवासीर में सुबह-शाम अनार के छिलके के चूर्ण को 8 ग्राम की मात्रा में पानी से पी लेना चाहिए, इससे खूनी बवासीर नष्ट हो जाती है. 

    हृदय के रोग - अनार के ताजे पत्तों का रस 10 मिलीलीटर, 100 मिलीलीटर पानी में मिलाकर पीने से हृदय की धड़कन में बहुत लाभ होता है इसे सुबह शाम पीना चाहिए.

    मुंह के छाले - अनार के 25 ग्राम पत्तों को 400 मिलीलीटर पानी में उबालें .जब यह एक चौथाई भाग शेष बचे तो उस पानी से कुल्ला करने से मुंह के छाले नष्ट हो जाते हैं.

    सिर का दर्द - लगभग 20 ग्राम अनार की कली और 10 ग्राम शर्करा को मिलाकर बारीक पीस लें इस चूर्ण को सूंघने से सिर दर्द ठीक हो जाता है.

    अनार के उपयोग - (Pomegranate Uses in hindi)

    हम अनार का उपयोग कई प्रकार से कर सकते हैं जैसे कि

    • आप अनार के दानों में काला नमक मिलाकर इसको खा सकते हैं या फिर उसका जूस निकालकर इसमें काला नमक मिलाकर इसे आप पी सकते हैं. बहुत शोधों में यह पाया गया है कि अनार के जूस से ज्यादा फायदा अनार खाने से होता है.
    • अनार के दानों को निकाल कर  हम अपने सलाद में भी उपयोग कर सकते हैं.
    • जितना अनार के दाने और उसका जूस उपयोगी है उतना ही अनार के छिलके भी उपयोगी है. आप अनार के छिलकों को सुखाकर उसकी चाय बनाकर पी सकते हैं जिससे आपके चेहरे पर चमक आती है, आपकी उम्र भी कम लगने लगती है और आपके चेहरे पर झुर्रियां ,कील मुहांसों की समस्या को भी दूर करती है.

    अन्य भाषाओं में अनार के नाम - Pomegranate name in other languages

    भाषा (Language) अर्थ (meaning)
    Name of pomegranate (anar) in hindi) अनार,दाडिम
    Name of pomegranate (anar) in urdu गुल अनार (gul anar)
    Name of pomegranate (anar) in Telugu दालिम्बकया (dalimbkaya)
    Name of pomegranate (anar) in English एप्पल ऑफ़ ग्रेनेडा (Apple of Grenada),पोमग्रेनेट (pomegranate)
    Name of pomegranate (anar) in oriya दालिम (Dalim)
    Name of pomegranate (anar) in Sanskrit दाड़िम (Dadim),करक (karak),रक्तपुष्पक (rakatpushpak)
    Name of pomegranate (anar) in Uttarakhand दाड़िम (Dadim)
    Name of pomegranate (anar) in gujarati दाड़म (dadam),गुलअनार (gulanar)
    Name of pomegranate (anar) in Tamil मडलम (madlam),मदलाई (madlai)
    Name of pomegranate (anar) in Punjabi दारुण (darun),जमन (jaman)
    Name of pomegranate (anar) in Nepali अनार (anar)
    Name of pomegranate (anar) in marathi दालिम्बा (Dalimba)
    Name of pomegranate (anar) in Bengali दाड़िम गाछ (Dadim Gachh)
    Name of pomegranate (anar) in Arabic रमन (raman)
    Name of pomegranate (anar) in malayalam मातलम (Matalam),दादिमन (dadiman)

    अनार के नुकसान - (Side effects of pomegranate in hindi)

    हर किसी चीज के अपने फायदे भी होते हैं और नुकसान भी कोई भी चीज हमें तब ही नुकसान करती है जब हम उसका अधिक मात्रा में सेवन कर लें या हमें उसके सेवन का तरीका पता ना हो. वैसे तो अनार के कई सेहतमंद फायदे होते हैं लेकिन इसके कुछ नुकसान भी हैं वह क्या है आइए जानते हैं.

    1- कुछ लोगों को कुछ सब्जियां, फल ,दवाइयां सूट नहीं करती हैं जिनसे उन्हें एलर्जी हो जाती है अगर आप अनार या अनार का जूस पी रहे हैं और आपको अपने शरीर में कुछ बदलाव से लगते हैं, जैसे कहीं खुजली या एलर्जी हो रही है. तो आपको उस फल, सब्जी और दवाई का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.

    2- मुझे ऐसा लगता है कि कभी भी प्योर (Pure) अनार का जूस नहीं पीना चाहिए हमेशा मिक्स जूस पीना चाहिए क्योंकि प्योर अनार का जूस हमारे गले को खराब कर सकता है.

    3- जिन लोगों को कब्ज और खांसी की समस्या होती है उन्हे अनार का सेवन नहीं करना चाहिए.

    4- किसी भी चीज को अधिक मात्रा में लेने से वह हमारे लिए नुकसानदायक हो सकती है एक निश्चित मात्रा में उस चीज का यूज़ करना चाहिए, अगर आप ज्यादा मात्रा में अनार का सेवन करते हैं तो आपके पेट में गैस की समस्या होने लगती है.

    5- अगर आपको रक्तचाप की समस्या है तो आप अनार के सेवन हमेशा डॉक्टर से पूछ कर करें.

    पूछे जाने वाले प्रश्न  - (Questions to ask)

    Q1 - अनार की तासीर कैसी होती है?
    A- अनार की जो तासीर (प्रभाव) होती है वह ठंडी होती है.

    Q2 - अनार का वैज्ञानिक नाम क्या है?
    A - अनार का वैज्ञानिक नाम प्यूनिका ग्रेनेटियम (punica granatum) है.

    Q3 - अनार को अंग्रेजी और संस्कृत में क्या कहते हैं?
    A - अनार को अंग्रेजी में एप्पल ऑफ़ ग्रेनेडा (Apple of Grenada),पोमग्रेनेट (pomegranate) और संस्कृत में दाड़िम (Dadim),करक (karak),रक्तपुष्पक (rakatpushpak) कहते हैं.

    Q3 - अनार के अंदर प्रोटीन की मात्रा कितनी होती है?
    A- 100 ग्राम अनार के अंदर प्रोटीन की मात्रा 1.67g होती है.

    Q4 - अनार के अंदर कौन-कौन से पोषक तत्व (nutrients) पाए जाते हैं?
    A - अनार के अंदर कई पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे कि ऊर्जा, कार्बोहाइड्रेट,प्रोटीन, फाइबर, नियासिन, विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन के, सोडियम, पोटेशियम, फास्फोरस और कैल्शियम आदि सारे पोषक तत्वों की मात्रा को हमने अपनी एक टेबल में दर्शाया है.

    Q5 - अनार खाने से हमें क्या हानि हो सकती है?
    A - अगर आप अनार का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो आपको पेट में गैस की समस्या हो सकती है, जिन लोगों को रक्तचाप की समस्या होती है उन्हें अनार का सेवन हमेशा डॉक्टर की सलाह करने के बाद करना चाहिए.

    Q6 - अनार खाने का सही समय क्या है?
    A - अनार खाने का सही समय सुबह या दोपहर हैं.

    Q7 - क्या गर्भावस्था के समय अनार खाया जा सकता है?
    A - गर्भावस्था के समय अनार खाना महिलाओं के लिए लाभदायक होता है. अनार खाने से उनके शरीर में खून की कमी नहीं होती है. यह मां और बच्चों दोनों के लिए अच्छा होता है. लेकिन अनार का अधिक मात्रा में सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

    निष्कर्ष - (The conclusion in hindi)

    इस पूरे आर्टिकल को पढ़कर हमें यही निष्कर्ष मिलता है कि हमें अपने स्वास्थ की देखभाल के लिए अनार व इसके जूस का सेवन जरूर करना चाहिए. हमने यहां बताया है कि अनार के खाने से हमें क्या फायदे होते हैं, इसके उपयोग, इसके अंदर पोषक तत्वों की कितनी मात्रा होती है और नुकसान.

    अनार के अंदर हर वह पोषक तत्व होता है जो हमारे शरीर के लिए बहुत उपयोगी और लाभदायक है. अनार के अंदर एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं जो हमारे शरीर को डिटॉक्सिफाई करते है.

    मौसम के हिसाब से हमें हर फल का सेवन करना चाहिए क्योंकि हमें इसके सेवन से हर वह पोस्टिक तत्व, खनिज, विटामिंस की प्राप्ति होती है.

    जो हमारी सेहत के लिए जरूरी होती है इसलिए आप फलों का सेवन ज्यादा से ज्यादा करें। धन्यवाद

    ओर भी पढ़े..

    Share Post

    0 Comments: